शर्मनाक! CNT SPT एक्ट पारित होने के विरोध में झारखंड विधानसभा के स्पीकर पर फेंकी कुर्सी




रांची:  बुधवार 23 नवंबर का दिन झारखंड विधानसभा के इतिहास में काला दिवस के तौर पर याद किया जाएगा। CNT SPT एक्ट पारित होने के विरोध में विपक्षी विधायकों ने विधानसभा अध्यक्ष के ऊपर कुर्सी फेंकी। यही नहीं अध्यक्ष के ऊपर फॉग स्प्रे भी किया गया। एक्ट के पारित होने के बाद विपक्षी विधायक सदन में ही अपनी मेज पर खड़े हो गए और सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे।

हालात इस कदर गंभीर हो गए कि सत्ता पक्ष और विपक्षी विधायक सदन के भीतर आपस में ही भिड़ गए। सदन में पारित की गई CNT SPT संशोधन विधेयक की प्रतियां भी फाड़ी गई। जिस वक्त सदन में हंगामा हो रहा था तब विधानसभा अध्यक्ष दिनेश उरांव सदन में ही मौजूद थे। विपक्षी विधायकों ने उनपर कुर्सी फेंकी जिसमें वो बाल बाल बच गए। हांगामे के वक्त मुख्यमंत्री रघुवर दास, ताला मरांडी और नीलकंठ मुंडा सदन में नहीं थे।

CNT SPT संशोधन विधेयक सदन में रखते ही विपक्ष की तरफ से जूता फेंका गया। काफी हंगामे के बीच इसे पास किया गया। इसके बाद सदन की कार्यवाही अनिश्चित काल के लिए स्थगित कर दी गई। विपक्षी विधायक इसे गलत तरीके से पास कराने का आरोप लगा रहे थे।

सदन में बुधवार को सुबह से ही विपक्ष आक्रामक था। सुबह सदन की कार्यवाही शुरु होने का साथ ही विपक्षी विधायक तख्तियां लहरा रहे थे। जिसमें लिखा था कि CNT SPT एक्ट में संशोधन ना किया जाए। सदन के भीतर हंगामा के साथ साथ सड़कों पर भी विपक्ष का हंगामा जारी रहा। जिसके बाद झारखंड विकास मोर्चा के अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी को गिरफ्तार किया गया।

Loading...

Leave a Reply