पीएम मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट पर जपानी कंपनी ने लगाया ब्रेक!

नई दिल्ली:  देश में 2022 तक बुलेट ट्रेन दौड़ाने के पीएम मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट पर जापानी कंपनी ने ब्रेक लगा दिया है। इस प्रोजेक्ट के लिए फंडिंग कर रही जापानी कंपनी जापान इंटरनेशनल कोऑपरेशन एजेंसी यानि जीका ने बुलेट ट्रेन नेटवर्क के लिए फंडिंग रोक दी है। इसके पीछे वजह किसानों का विरोध है। जापानी कंपनी ने कहा है कि इस प्रोजेक्ट पर आगे बढ़ने से पहले पीएम मोदी के लिए किसानों की समस्या पर पहले गौर करने की जरुरत है।

एक लाख करोड़ के लागत से हो रहे बुलेट ट्रेन के निर्माण में महाराष्ट्र और गुजरात के किसानों का विरोध सामने आ गया है। दरअसल विवाद किसानों के जमीन अधिग्रहण को लेकर है। इस विवाद को दूर करने के लिए केंद्र सरकार ने स्पेशल कमेटी का गठन किया है। जबकि जापानी कंपनी ने फंड रोकत हुए कहा है कि मोदी सरकार के लिए पहले किसानों की समस्या दूर करना ज्यादा जरुरी है।

पहले इस प्रोजेक्ट को 2022 तक पूरा किया जाना था। लेकिन अब फंडिंग रोके जाने के बाद इसे पूरा होने में और वक्त लग सकता है। जीका जापानी सरकार की एजेंसी है। जो जापान सरकार के लिए सामाजिक-आर्थिक नीतियों का निर्धारण करती है। भारत में बुलेट ट्रेन का जिम्मा नेशनल हाई-स्पीड रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड यानि (NHRCL) को भारत में बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट का जिम्मा मिला है।

भारत में बुलेट ट्रेन की ये पहली योजना 508 किलोमीटर की है। जिसमें 110 किलोमीटर का सफर महाराष्ट्र के पलघर से गुजरता है। केंद्र सरकार के लिए यहां के किसानों से जमीन लेना एक बड़ी चुनौती है। गुजरात में भी सरकार को जमीन अधिग्रहण के लिए 8 जिलों में फैले किसान परिवारों से बात करना पड़ रहा है।

(Visited 67 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *