कांग्रेस के बयान से ISI खुश, देशभक्ति पर भारी Rahul भक्ति-BJP

दिल्ली: पीएम मोदी पर Rahul का हमला, Rahul और कांग्रेस का Bjp का पलटवार, फिर कांग्रेस का Bjp और अमित शाह पर हमला उसके बाद Bjp का फिर से कांग्रेस पर पलटवार। गुरुवार शाम से लेकर शुक्रवार की शाम तक देश की सियासत इसी श्रृंखला में घूमती रही। और चर्चा इस बात की होती रही कि कौन कितना नीचे गिरा। क्योंकि हर किसी ने अपने बयान में ये जरुर कहा कि मुझे उम्मीद नहीं थी कि वो इतना नीचे गिर जाएंगे।
अब इस पॉलिटिकल सर्जिकल वार की शुरुआत के बारे में जान लीजिये। कांग्रेस उपाध्यक्ष Rahul गांधी ने पीएम मोदी को सैनिकों की खून का दलाल कह दिया। Rahul का ये वो बयान था जिसने पूरी कांग्रेस को बैकफुट पर ला दिया था। और Bjp फ्रंट फुट पर आकर कांग्रेस खासकर Rahul पर हमलावर हो गई। Bjp अध्यक्ष अमित शाह ने Rahul को गंभीर विषयों पर टिप्पणी करने के बदले आलू की फैक्ट्री लगाने की नसीहत दे दी।

Rahul पूरे यूपी में मृतप्राय हो चुकी कांग्रेस को संजीवनी पिलाकर 26 दिनों बाद दिल्ली लौटे थे। भला कांग्रेस कैसे शांत बैठ सकती थी। अमित शाह के बाद कांग्रेस की तरफ से कपिल सिब्बल ने अपना दरबार सजाया दिल्ली के कांग्रेस मुख्यालय में। सिब्बल का हमला Bjp अमित शाह से शुरु हुआ और Bjp पर आकर खत्म हुआ। सिब्बल ने कहा जिसने जेल काटी हो, जिसने दंगे करवाए हों वो हमें सीख दे रहे हैं। सिब्बल ने कहा अमित शाह को बोलना नहीं आता। Bjp से इसी तरह के बयान की उम्मीद थी। लगे हाथों ये भी बता दिया कि लश्कर को Bjp ने तैयार किया।

इतना काफी था Bjp की तरफ से पलटवार की भूमिका तैयार करने के लिए। इसबार Bjp की तरफ से रविशंकर प्रसाद सामने आए और सवाल कांग्रेस की सोच पर उठा दिये। रविशंकर प्रसाद ने कहा कांग्रेस में Rahul भक्ति देश भक्ति पर भारी पड़ रही है। अगर ऐसा नहीं होता तो 50 सालों तक देश में शासन करने वाली कांग्रेस की हालत ऐसी नहीं होती।

उन्होंने कहा कांग्रेस को मौत का सौदागर से कोई सीख नहीं मिली इसीलिए आज खून का दलाल तक पहुंच गए पार्टी के नेता। रविशंकर प्रसाद ने इस बयान में निशाना कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर साधा था। क्योंकि सोनिया ने ही मोदी को गुजरात चुनाव के दौरान मौत के सौदागर कहा था। बदले में कांग्रेस को करारी हार मिली थी।

रविशंकर प्रसाद ने कहा जब जेएनयू में देश विरोधी नारे लगाए जा रहे थे तब Rahul ने उसपर कुछ नहीं कहा था बदले में जेएनयू पहुंच गए थे भाषण देने। उनके बयान में लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की पराजय का भी जिक्र हुआ। उन्होंने कहा अगर कांग्रेस 44 से 24 पर आना चाहती है तो वो इस तरह की सोच दिखा सकती है उन्हें शुभकामना।

Bjp की तरफ से कहा गया कि कांग्रेस ने कहा जैश ए मोहम्मद को Bjp ने बनाया। क्या ये बयान कांग्रेस को देना चाहिए था। उन्होंने कहा कांग्रेस के इस बयान से सबसे ज्यादा खुश पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई होगी। इस तरह का बयान शर्मिंदगी की पराकाष्ठा है। कांग्रेस का ये बयान बेहद शर्मनाक है। कांग्रेस अपने नेता के बचाव में इस हद तक गिर जाएगी ऐसा मैने नहीं सोचा था।

Loading...