भारतीय क्रिकेट के ‘बॉस’ बन गए हैं विराट कोहली ?

नई दिल्ली:  सोमवार को सुबह से ही क्रिकेट प्रेमी इस बात पर टकटकी लगाए हुए थे कि भारतीय क्रिकेट टीम का नया कोच कौन होगा। क्रिकेट एडवाइजरी कमिटी कोच पर सोमवार को मंथन करने वाली थी। उम्मीद थी कि शाम तक नए कोच का नाम सामने आ जाएगा लेकिन इंतजार उस वक्त और लंबा हो गया जब नए कोच के चयन को कुछ समय के लिए टाल दिया गया। बताया गया कि टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली से सलाह के बाद कोच का चयन होगा।

इससे कहीं न कहीं संकेत ये मिलता है कि क्या विराट भारतीय क्रिकेट के ‘बॉस’ हो गए हैं ? चंद दिनों पहले की बात है जब अनिल कुंबले को शायद न चाहते हुए भी टीम इंडिया के कोच के पद से हटना पड़ा क्योंकि माना जा रहा था कि जंबो को कोहली पसंद नहीं करते हैं। शायद कुंबले ने आपसी तनातनी को ज्यादा बढ़ावा देने से बेहतर यही समझा कि वो कोच के पद को ही छोड़ दें।

कोच के चयन में आखिर विराट को इतनी तवज्जो क्यों ?

इसमें कोई शक नहीं है कि किसी भी टीम के बेहतर प्रदर्शन के लिए कप्तान और कोच के बीच बेहतर तालमेल का होना जरूरी है। दोनों के बीच की कड़वाहट टीम के प्रदर्शन पर बुरा असर डालती है। इसका उदाहरण चैंपियंस ट्रॉफी में देखने को मिला जब टीम इंडिया के खराब प्रदर्शन का ठीकरा कोच अनिल कुंबले और विराट कोहली के बीच चल रहे तनातनी पर फोड़ा गया। लेकिन इस बात को कैसे हजम किया जा सकता है कि टीम के नए कोच के लिए कप्तान का इंतजार किया जाए ताकि उससे इस मुद्दे पर सलाह ली जाए।

क्या कोहली से फोन या स्काइप के जरिए संपर्क नहीं साधा जा सकता था ?

भारतीय क्रिकेट के नए कोच के इंतजार को बढ़ाकर भारतीय क्रिकेट के आकाओं ने कप्तान को इस मामले में लगता है वीटो पावर दे दिया है। इससे पहले भी कोच के चयन को लेकर कप्तान से सलाह ली जाती रही है लेकिन इस बार जिस तरह कोच के चयन को लेकर कोहली से मशविरा करने की बात कही जा रही है उससे यही लग रहा है कि विराट ही भारतीय क्रिकेट की दिशा और दशा तय करेंगे। कोच के चयन का जिम्मा जिन पूर्व खिलाड़ियों को सौंपा गया है उनके पास क्रिकेट का आपार अनुभव है। ऐसे में जरूरी है कि वो भारतीय क्रिकेट की बेहतरी के लिए अपने अनुभव का ऐसा इस्तेमाल करें जिससे कि टीम को ज्यादा से ज्यादा कामयाबी मिले। पसंद और नापसंद निजी हो सकती है लेकिन टीम को जीत की पटरी पर सरपट दौड़ाने के लिए एक काबिल कोच चाहिए।

Loading...

Leave a Reply