nitish rahul

कांग्रेस पर क्यों बरसे नीतीश कुमार? जानिये नीतीश vs कांग्रेस की इनसाइड स्टोरी

कांग्रेस पर क्यों बरसे नीतीश कुमार? जानिये नीतीश vs कांग्रेस की इनसाइड स्टोरी

 

पटना:  कांग्रेस को आड़े हाथों लेकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपनी भड़ास एक बार फिर से निकाली है। कांग्रेस को एजेंडा तय करने की नसीहत देकर नीतीश कुमार ने ये संकेत दे दिया है कि कांग्रेस ये जताने की कोशिश न करे कि विपक्ष की एकता में बिहार के मुख्यमंत्री सबसे बड़े रोड़ा बन रहे हैं। इसलिए उन्होंने ये भी साफ कर दिया कि अगले राष्ट्रपति को लेकर हर पार्टी के अपने विचार हो सकते हैं। दरअसल जब से एऩडीए के रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति का उम्मीदवार बनाने के बाद नीतीश कुमार ने भी हामी भारी तब से विपक्ष खासकर कांग्रेस इशारों ही इशारों मे नीतीश कुमार पर निशाना साध रही है। नीतीश कुमार पर ये भी आरोप लग रहे हैं कि भविष्य में कही वो फिर से एनडीए के साथ हाथ न मिला लें।

नीतीश और कांग्रेस के बीच छत्तीस के आंकड़े की खास वजह ये है ?

सूत्र बताते हैं कि 2019 के लोकसभा चुनाव में विपक्ष एक ऐसे चेहरे की तलाश में है जिसे प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के तौर पर जनता के सामने पेश किया जा सके। बताया ये भी जा रहा है कि कांग्रेस छोड़कर दूसरे दल नीतीश कुमार के नाम पर हामी भर देंगे लेकिन कांग्रेस नीतीश कुमार के नाम पर मुहर नहीं लगने देगी। इसकी खास वजह हैं राहुल गांधी। अगर कांग्रेस नीतीश कुमार के नाम पर हामी भर देती है तो राहुल गांधी का राजनीतिक करियर शायद खत्म हो जाएगा क्योंकि नीतीश मझे हुए राजनेता हैं।

बिहार के मुख्यमंत्री के तौर पर जनता ने उन्हें बेहद पसंद भी किया है। हालांकि कांग्रेस पर निशाना साधते वक्त नीतीश कुमार ने ये भी कहा है कि वो प्रधानमंत्री बनना नहीं चाहते हैं। कुल मिलाकर देखा जाय तो कांग्रेस और नीतीश कुमार के बीच चल रहे वाक्युद्ध का असर विपक्ष की एकता पर जरूर पड़ेगा। वक्त रहते अगर नीतीश और कांग्रेस के बीच की खाई कम नहीं हुई तो बीजेपी इसका भरपूर फायदा उठा सकती है।

Loading...

Leave a Reply