सर्जिकल स्ट्राइक से थर-थर कांपे आतंकी, POK में 24 कैंप छोड़कर भागे 300 आतंकी

दिल्ली: बुधवार की रात भारतीय सेना के स्पेशल कमांडो के सर्जिकल स्ट्राइक के बाद से POK में मौजूद आतंकी कांप रहे हैं। खुफिया जानकारी आई है कि POK में 24 आतंकी कैंपों से तकरीबन 300 आतंकी अपने ट्रेनिंग कैंप को छोड़कर भाग गए हैं। इसमें वो ट्रेनिंग कैंप भी शामिल है जहां मुंबई आतंकी हमले के आतंकी कसाब ने ट्रेनिंग ली थी।

इन आतंकियों को पाल रहे उसके आका इनका भरोसा कायम करने के लिए भारत को धमकी दे रहे हैं। जमात उद दावा का प्रमुख हाफिज सईद ये धमकी दे रहा है कि पाकिस्तानी फौज बताएगी सर्जिकल स्ट्राइक क्या होती है। लेकिन उसके आतंकी कैंपों में ट्रेनिंग ले रहे आतंकियों में भारतीय सेना का खौफ इस कदर है कि अब वो अपने ट्रेनिंग कैंपों को छोड़कर भाग खड़े हुए हैं।

इन 24 आतंकी कैंपों में लश्कर, हिजबुल, जमात उद दावा के ज्यादातर आतंकी कैंप हैं। इसके अलावे कई छोटे आतंकी संगठनों के कैंप भी हैं। बुधवार की रात भारतीय सेना के स्पेशल कमांडो ने POK में सर्जिकल स्ट्राइक कर आतंकियों के 7 लॉन्चिंग पैड को तबाह कर दिया था और 50 आतंकियों को मार गिराया था। आतंकी सरगना सर्जिकल स्ट्राइक की बात को नकार रहे हैं लेकिन जिस तरह की बेचैनी उनमें देखी जा रही है उससे उनका झूठ सामने आ जाता है।

पाकिस्तान में केवल आतंकी संगठन ही खौफ में नहीं हैं। सर्जिकल स्ट्राइक के बाद से पाकिस्तानी सराकर भी खौफ में है। दरअसल भारत का ये वो कदम था जिसे ना तो पाकिस्तान की हकूमत स्वीकार कर सकती है और न ही इससे पूरी तरह से नकार कर सकती है। क्योंकि पाकिस्तान ने सपने में भी नहीं सोचा था कि एक ही रात में भारतीय सेना POK में घुसकर उसके पाले हुए आतंकियों का इस तरह से खात्मा कर देगी।

दूसरी तरफ पाकिस्तान में भारतीय टीवी चैनलों का प्रसारण भी बंद कर दिया गया है। इसके पीछे पाकिस्तानी सरकार का मकसद ये है कि वो नहीं चाहती कि हकीकत का पता पाकिस्तानी जनता को चल सके। दरअसल पाकिस्तानी सराकर अपनी जनता की तरफ से उठनेवाले उन सवालों से भी डरी हुई है जिसमें उनसे पूछा जाएगा कि जब सर्जिकल स्ट्राइक हुआ तब पाकिस्तान सेना और पाकिस्तानी सरकार क्या कर रही थी? सवाल ये भी किये जाएंगे कि पाकिस्तानी सरकार आतंकियों को पनाह क्यों दे रही है?

Loading...