डोभाल ने जंजुआ को साफ समझाया- ‘हितों की रक्षा के लिए सर्जिकल स्ट्राइक’

दिल्ली: भारत के एनएसए अजीत डोभाल ने पाकिस्तानी एनएसए नासिर खान जंजुआ को साफ और सटीक भाषा में समझाया है कि भारत को अपने हितों की रक्षा का अधिकार है। जंजुआ के साथ बातचीत में डोभाल ने सर्जिकल स्ट्राइक के बारे जुड़ी जानकारी भी साझा की। जानकारी के मुताबिक डोभाल ने पाकिस्तान को इस बात का एहसास भी कराया कि भरोसा टूटने के लिए पाकिस्तान खुद जिम्मेदार है।

बताया जा रहा है कि अजीत डोभाल ने जंजुआ से कहा कि पठानकोट हमले के बाद पाकिस्तान की तरफ से कोई ठोस कदम नहीं उठाए गए थे। जिस वजह भारत का पाकिस्तान पर विश्वास घटा है। पाकिस्तानी एनएसए को ये भी साफ-साफ बता दिया गया कि भारत अपने हितों की रक्षा का अधिकार रखता है। और इसके लिए एलओसी पर सर्जिकल स्ट्राइक भी कर सकता है।

दोनों देशों के एनएसए के बीच हुई बातचीत पर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और हाई कमिश्नर का मानना है कि बातचीत में दोनों के बीच तनाव घटाने को लेकर रजामंदी हुई। पाकिस्तानी हाई कमिश्नर अब्दुल बासित ने कहा कि ‘दोनों ही देश यह समझते हैं कि जंग हमारी समस्याओं का समाधान नहीं है। परमाणु ताकत संपन्न देशों में संघर्ष की कोई जगह नहीं है। हम उस रास्ते पर नहीं जा सकते। बयान दिये जा रहे हैं लेकिन मुझे लगता है कि दोनों ही देश आपसी तनाव बढ़ाने का मतलब अच्छे से समझते हैं।‘

पाकिस्तान चाहे जो सोचे, जो बयान दे और जो निष्कर्ष निकाले। लेकिन सूत्र बताते हैं कि पाकिस्तान की तरफ से तनाव कम करने की अपील से पीएम मोदी के रुख और पाकिस्तान को लेकर बनी रणनीति में कोई बदलाव नहीं आ रहा है। इसकी एक वजह ये भी है कि पाकिस्तान इस तरह के बयान पहले भी दे चुका है।

पाकिस्तान भले ही इसबार भी तनाव कम करने के लिए कोशिश करने की बात कह रहा है। लेकिन दूसरी तरफ लगातार सीजफायर का उल्लंघन भी कर रहा है। पिछले 36 घंटे में पाकिस्तान ने 6 बार सीजफायर का उल्लंघन किया। क्या इस हालात में तनाव कम हो सकते हैं ? पाकिस्तान को किसी तरह की अपील से पहले अपनी इन ओछी हरकतों को बंद करनी चाहिए।

Loading...

Leave a Reply