34 साल बाद आज फिर कौन भारतीय बल्लेबाज मारेगा 16 चौके और 6 छक्के?

नई दिल्ली:  लंदन का ओवल ग्राउंड एक महा मुकाबले के लिए तैयार है। भारत और पाकिस्तान की टीम चैंपियंस ट्रॉफी का फाइनल मुकाबला खेलने जा रही हैं। लेकिन इस मुकाबले से पहले तकरीबन तीन दशक पहले भी एक मुकाबला हुआ था। वो साल था 1983 का था लेकिन तारीख 18 जून ही थी और मुकाबला वर्ल्ड कप का था । उस मुकाबले में एक तरफ भारतीय खिलाड़ी थे तो दूसरी तरफ था जिम्बाब्वे। 34 साल पहले हुए उस मुकाबले में भारतीय खिलाड़ी ने जिम्बाब्वे के जबड़े से जीत को छीन लिया था। उस मुकाबले के शूरवीर रहे थे कपिल देव।

दरअसल 34 साल पहले 1983 में आज ही के दिन वो मुकाबला खेला गया था। जिसमें कपिल देव ने 175 रनों की नाबाद पारी खेली थी। वो भी तब जबकि भारत के 5 विकेट महज 17 रनों पर गिर चुके थे। इसके बाद बल्लेबाजी करने आए कपिल देव ने भारत की बिखरती हुई पारी को संभाला था और अपने 175 रनों की शानदार पारी के बदौलत टीम के स्कोर को 266 के सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचा दिया था।

कपिल देव ने अपने 175 रन 138 गेंद में बनाए थे। जिसमें उन्होंने 16 चौके और 6 छक्के लगाए थे। कपिल देव ने अपने बड़े स्कोर की बदौलत ना केवल टीम को जीत दिलाई थी बल्कि उस वक्त वनडे मुकाबले में सबसे बड़ा स्कोर भी अपने नाम करने का रिकॉर्ड बनाया था। कपिल देव का ये रिकॉर्ड 1984 में वेस्टइंडीज के विवियन रिचर्ड्स ने 189 रनों की नाबाद पारी खेलकर तोड़ दी थी। वर्ल्ड कप के उस मुकाबले में भारत ने कुल 266 रन बनाए थे। इसके जवाब में जिम्बाब्वे की टीम 235 रन पर ही ऑल आउट हो गई। और ये मुकाबले भारत ने अपने नाम कर लिया।

Loading...

Leave a Reply