modi-xi ping

मोदी ने अपनी कूटनीति के आगे चीन को कर दिया चित, एक बड़ी जीत

मोदी ने अपनी कूटनीति के आगे चीन को कर दिया चित, एक बड़ी जीत

नई दिल्ली:  डोकलाम का मुद्दा जिस तरह से भारत और चीन के बीच विवाद क विषय बन गया है उस सूरत में अगर ये कहा जाए कि पीएम मोदी चीन की यात्रा पर जा रहे हैं। तो शायद आप यकीन नहीं करेंगे। अगर सच पूछिये तो चीन भी यही चाहता था कि पीएम मोदी चीन की यात्रा पर नहीं आएं। लेकिन ऐसा नहीं हुआ। विदेश मंत्रालय की तरफ से ये जानकारी दी गई है कि पीएम मोदी सितंबर के पहले हफ्ते में चीन की यात्रा पर जाएंगे।

चीन में 3-5 सितंबर क बीच ब्रिक्स दशों का सम्मेलन होने जा रहा है। उस सम्मेलन में पीएम मोदी भी शामिल होने के लि जाएंगे। दरअसल चीन भे ये चाह रहा था कि पीएम मोदी ब्रिक्स देशों के सम्मेलन में चीन ना आएं। इसमें चीन का बड़ा फायदा था। उसे अंतरराष्ट्रीय मंच पर ये कहना के मौका मिल जाता कि भारत दोनों देशों के बीच संबंध सुधारने में दिलचस्पी नहीं दिखा रहा है। और वो डोकलाम में अपनी मनमर्जी से जबरन अपने सैनिकों को जमा किये हुए है। लेकिन चीन के हाथ से वो मौका पीएम मोदी ने छीन लिया।

विदेश मंत्रालय की तरफ से आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि डोकलाम विवाद पर चीन से बात चल रही है। हाल ही में चीन की तरफ से एक वीडियो जारी कर भारत का मजाक उड़ाया गया था। उसपर विदेश मंत्रालय ने कहा कि हर बात पर चर्चा करना जरुरी नहीं है। साथ उन्होंने ये भी कहा कि मीडिया में संवेदनशील मुद्दों पर बात करना जरुरी नहीं है।

पीएम के चीन जाने पर जब उनसे सवाल किया गया तो उन्होंने कहा इसपर हम सकारात्म रूख अपनाएंगे। हलांकि जब उनसे मोदी के चीन जाने की तारीख के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा अभी इस बारे में जानकारी नहीं दी जा सकती है।

Loading...

Leave a Reply