#BRICS 2016: भारत-रूस के बीच हुए अति महत्वपूर्ण 16 समझौते

दिल्ली: गोवा में रुसी राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन और पीएम नरेंद्र मोदी के बीच 16 अहम समझौतों पर दस्तखत किये गए। दोनों देशों के बीच हुए समझौतों के मुताबिक भारत को कोमोव मिलिट्री हेलीकॉप्टर मिलेगा। इसके साथ ही रुस भारत को एस-400 सिस्टम भी देगा। रक्षा क्षेत्र के अलावे दोनों देशों के बीच गैस पाइपलाइन पर स्टडी, न्यूक्लियर एनर्जी, आंध्र प्रदेश और हरियाणा में स्मार्ट सिटी, शिक्षा, रेल की स्पीड बढ़ाने समेत कई अहम समझौते किये गए।

भारत और रुस के बीच हुए समझौतों से रक्षा क्षेत्र को मजबूति मिलेगी। एयर डिफेंस सिस्टम एस-400 ट्राइअम्फ लंबी रेंज की क्षमता वाले डिफेंस सिस्टम हैं। इन मिसाइलों में अपनी तरफ आ रहे दुश्मन के विमानों, मिसाइलों और ड्रोन को 400 किलोमीटर दूर से ही मार गिराने की क्षमता है। इस समझौते और इसकी खरीद से भारत को मजबूत रक्षा कवच मिलेगा।

साझा बयान में पीएम मोदी ने कहा कि दोनों देश आपसी सहयोग को नए युग में ले जाने पर सहमत हुए हैं। रक्षा और सुरक्षा में जहां रूस मिलकर काम करेगा वहीं मेक इन इंडिया में भी रूस मदद करने पर सहमत हुआ है। पीएम मोदी ने कहा रुस भारत का पुराना सहयोगी है और एक पुराना दोस्त दो नए दोस्तों से बेहतर होता है।

दोनों दोशों के बीच इस ऐतिहासिक क्षण पर पीएम मोदी ने कहा कि आतंकवाद और वैश्विक खतरे का दोनों देश मिलकर मुकाबला करेंगे। भारत और रुस ब्रिक्स समेत पांच मंचों पर एकसाथ काम कर रहे हैं। वैश्विक मंचों पर वौश्विक मसलों के समाधान के लिए मिलजुलकर काम करेंगे।
वहीं रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने कहा कि दोनों देशों के संबंध एक नए युग की तरफ बढ़ रहे हैं। तमाम क्षेत्रों में हम मिलकर काम कर रहे हैं। दोनों देशों की कंपनियां औद्योगिक सहयोग, मिलिट्री और तकनीकी सहयोग सुधारने के लिए मिलकर काम कर रही हैं।

Loading...

Leave a Reply