दुनिया की सबसे वजनी इमान की बहन ने डॉक्टर पर लगाए गंभीर आरोप

नई दिल्ली: मुंबई के सैफी अस्पताल में इलाज करवा रही दुनिया की सबसे वजनी महिला इमान अहमद अब्दुलाती (मिस्र) की बहन सायमा सेलिम ने डॉक्टरों पर गंभीर आरोप लगाए हैं। सायमा ने कहा है कि डॉक्टर उसे बेवकूफ बना रहे हैं उसकी बहन इमान का वजन कम नहीं हुआ है। इसके उलट उसकी तबीयत और खराब हो गई है। लेकिन इमान का इलाज कर रहे डॉक्टर मुफज्जल लकड़ावाला ने इन आरोपों को गलत बताया है। डॉ. लकड़ावाला ने कहा है इमान बिल्कुल ठीक हैं और उनकी हालत में लगातार सुधार हो रहा है।

सायमा ने आरोप लगाया था कि डॉ. मुफज्जल लकड़ावाला झूठे हैं। वो हमें बेवकूफ बना रहे हैं। उन्होंने इमान की हेल्थ और उसके ठीक होने के बारे में सही जनाकारी नहीं दी। मेरी बहन की हालत नाजुक है। उसमें कोई बदलाव नहीं आया है। इन आरोपों के जवाब में लकड़ावाला का कहना है कि इमान ठीक हैं और उनकी हालत लगातार बेहतर हो रही है। अब उनकी न्यूरोलॉजिकल कंडीशन का पता लगाने के लिए  सीटी स्कैन किया जाएगा। सायमा ये आरोप इसलिए लगा रही है क्योंकि आर्थिक वजहों से वो अपनी बहन को मिस्र वापस नहीं ले जाना चाहती हैं।

लकडावाला ने आगे कहा इमान का इलाज शुरु होने के 15 दिनों बाद तक सबकुछ ठीक था। लेकिन जब इमान की हालत में सुधार होने लगा और सायमा को उसे घर ले जाने की सलाह दी गई तो वो इस तरह के बेबुनियाद आरोप लगाने लगी। जब इमान को सीटी स्कैन के लिए ले जाया जाएगा तो कोई भी उनके अंदर आए बदलाव को देख सकता है। उसके बाद सायमा के दावों की सच्चाई का भी पता चल जाएगा।

इसे भी पढ़ें

सुकमा नक्सली हमले पर 8 मई को गृह मंत्रालय ले सकता है बड़ा फैसला

दावा है कि मिस्र की इमान का वजन 2 महीने में 327 किलो कम हो गया है और उनका वजह अब 173 किलो है। सैफी अस्पताल की तरफ से जारी बयान में ये बात कही गई। लकड़ावाला ने कहा हमें 6 महीने में 200 किलो वजन कम होने की उम्मीद थी। लेकिन उससे काफी कम वक्त में ही इमान का काफी वजन कम हो गया।

इसे भी पढ़ें

अगर MCD चुनाव में AAP की हार हुई तो ईंट से ईंट बजा देंगे- केजरीवाल

इमान की बहन की तरफ से लगाए आरोप पर अस्पताल ने भी बयान जारी किया है। जिसमें कहा गया है कि इनान की रिकवरी एक प्रोसेस है। डॉक्टर की पूरी टीम दिन रात उसका खयाल रख रही है। लकड़ावाला ने कहा इमान के खून के नमूनों से पता चला कि पोटैशियम हाई रिस्क पर था। उसके सारे सिस्टम खराब थे। लेकिन हमने सबकुछ नॉर्मल किया।

Loading...

Leave a Reply