अगर खुद LPG सिलेंडर लाते हैं तो एजेंसी आपको इतने पैसे देगा, ये आपका हक है

नई दिल्ली:  आजकल ज्यादातर घरों में खाना गैस के चूल्हे पर ही बनता है। दिनों दिन गैस उपभोक्ताओं की संख्या में इजाफा भी हो रहा है। सरकार की तरफ से भी लोगों को लकड़ी या कोयले के चूल्हे की जगह गैस के चूल्हे का प्रयोग करने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है। गैस सिलेंडर और गैस कनेक्शन के बारे कई नियम ऐसे हैं जो उपभोक्ता के फायदे के लिए बनाए गए हैं। लेकिन जानकारी के अभाव में लोग उसका फायदा नहीं उठा सकते।

ऐसा ही एक नियम है सिलिंडर की डिलीवरी से जुड़ी हुई। वैसे तो हर गैस एजेंसी को ये निर्देश है कि वो उपभोक्ता का सिलिंडर उसके घर तक पहुंचाएंगे और इसके बदले किसी तरह का शुल्क नहीं वसूल सकते हैं। दरअसल सरकार जब सिलेंडर का दाम तय करती है तो उसमें डिलीवरी चार्ज भी जुड़ा रहता है। यानि अगर सिलेंडर आपके घर पहुंचाने के बाद कैशमेमो में दर्ज रकम के ज्यादा अगर आपसे मांगा जाता है या सिलेंडर घर तक पहुंचाने का शुल्क वसूला जाता है तो ये नियम के विरूद्ध है। आप इसकी शिकायत कर सकते हैं।

वहीं अगर किसी वजह से एजेंसी आपके घर तक सिलेंडर नहीं पहुंचाता है और आप इसे एजेंसी जाकर रिसीव करते हैं तो इसके बदले आप एजेंसी से पैसे मांग सकते हैं। एजेंसी आपको 19 रुपये 50 पैसे देगा। क्योंकि सरकार की तरफ से गैस एजेंसी वालों को सिलिंडर डिलीवर करने का किराया 19 रुपये 50 पैसे एजेंसी को देती है। लेकिन अगर एजेंसी आपके घर तक सिलेंडर नहीं पहुंचाता है और आप इसे वहां जाकर लाते हैं तो 19 रुपये 50 पैसे आप एजेंसी से मांग सकते हैं। एजेंसी आपको ये पैसा देने से मना नहीं कर सकता है। पहले ये डिलीवरी चार्ज 15 रुपये थी लेकिन अब इसे बढ़ाकर 19 रुपये 50 पैसे कर दिया गया है।

अगर एजेंसी संचालक आपको ये पैसा देने से इनकार करता है तो आप इसकी शिकायत टोल फ्री नंबर पर कर सकते हैं। टोल फ्री नंबर है 18002333555, इस नंबर पर आप एजेंसी संचालक के खिलाफ शिकायत कर सकते हैं। याद रखिये अभी एक साल में 12 सिलेडर सब्सिडी रेट पर दिये जाते हैं। इसके बाद अगर आप सिलेंडर लेते हैं तो आपको बाजार भाव पर सिलेंडर खरीदना होता है।

Loading...