पत्नी अगर सास-ससुर से अलग रहने की जिद्द करे तो पति दे सकता है तलाक-SC

दिल्ली: हिंदू समाज में तलाक को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाया है। सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में कहा है कि अगर पत्नी अपने सास-ससुर से अलग रहने की जिद्द करती है या अपने पति को माता-पिता की देखरेख करने से रोकती है या मना करती है और घर में बिखराव लाने की कोशिश करती है तो उस हालत में पति अपनी पत्नी को तलाक दे सकता है।

न्यायमूर्ति अनिल आर दवे और न्यायमूर्ति एल नागेश्वर राव की एक पीठ के सामने कर्नाटक के एक व्यक्ति द्वारा इसी मसले पर तलाक की इजाजत मांगी गई थी। जिसपर उसे अनुमति देते हुए सुप्रीम कोर्ट ने ये फैसला सुनाया है। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक हाईकोर्ट के उस फैसले को रद्द कर दिया जिसमें बेंगलुरु की परिवार अदालत द्वारा साल 2001 में दी गई तलाक की अनुमति को खारिज कर दिया गया था।

सुप्रीम कोर्ट कर्नाटक के एक मामले पर सुनवाई कर रहा था। जिसमें बेंगलुरु परिवार न्यायालय ने 2001 में पत्नी की हरकतों को क्रूरता बताते हुए तलाक पर पति के पक्ष में फैसला सुनाया था। जिसे महिला ने हाईकोर्ट में चुनौती दी थी। हाईकोर्ट में तलाक पर पति के पक्ष में आया फैसला खारिज हो गया। उसी पर सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए हाईकोर्ट के फैसले को खारिज कर दिया। और नीचली अदालत के फैसले को बहाल कर दिया।

Loading...

Leave a Reply