पंजाब जाने से रोका इसलिए राज्यसभा से इस्तीफा दिया- सिद्दू

दिल्ली: राज्यसभा और बीजेपी से इस्तीफा देने के बाद नवजोत सिंह सिद्धू ने पहली बार अपनी चुप्पी तोड़ी। सिद्धू ने बताया कि उन्होने राज्यसभा से इस्तीफा क्यों दिया। सिद्धू ने कहा कि ‘मुझे पंजाब से दूर रखने को कोशिश की गई। मुझे कहा गया कि पंजाब की तरफ नहीं देखोगे पंजाब से दूर रहोगे इसलिए मैंने राज्यसभा से इस्तीफा दिया। सिद्दू ने कहा मैं पंजाब से दूर नहीं रह सकता। मेरे लिए पार्टी से बड़ा पंजाब है। सिद्दू पंजाब छोड़कर कैसे जी सकता है। पक्षी भी अपने पेड़ पर शाम को लौटकर वापस आता है और मैं पंजाब से दूर कैसे रह सकता हूं। उन्होंने कहा कि ऐसा मेरे साथ पहली बार नहीं तीसरी-चौथी बार नाइंसाफी हुई।‘

सुनिये नवजोत सिद्धू ने प्रेस कांफ्रेंस में क्या कहा?

‘पहली बार जब अमृतसर से चुनाव जीता तो मुझे बीजेपी के कई नेताओं की तरफ से फोन कर चुनाव लड़ने को कहा गया था। मैने मना कर दिया था। फिर वाजपेयी जी ने फोन किया। महज 14 दिनों में मैने चुनाव की तैयारी की और कांग्रेस के पुराने सांसद को हरा दिया। फिर जब केस हुआ तो मैने इस्तीफा दे दिया। दोबारा जब चुनाव लड़ा तो भी अमृतसर के लोगों ने मुझे जिताया।‘

उन्होंने कहा ‘2014 लोकसभा चुनाव में मुझे अमृतसर जाने से मना कर दिया। कहा गया हरियाणा के कुरुक्षेत्र से लड़ो, वेस्ट दिल्ली से लड़ो। लेकिन मैने मना कर दिया। मैने कभी नफा नुकसान के बारे में नहीं सोचा। मोदी के लहर में सिद्धू को डुबा दिया गया।‘

अपनी पूरे प्रेस कांफ्रेंस में सिद्दू ने ये तो बता दिया कि उन्होंने राज्यसभा से इस्तीफा क्यों दिया। लेकिन ये नहीं बताया कि उनका अगला कदम क्या होगा। जब उनसे सवाल किया गया कि वो आम आदमी पार्टी के साथ जाएंगे तो उन्होंने इसपर कुछ भी नहीं कहा। सिद्धू ने केवल इतना कहा ‘जहां पंजाब का हित होगा वहां जाऊंगा।‘ इसका मतलब ये निकाला जा रहा है कि सिद्धू ने आगे की तैयारी तो कर रखी है लेकिन उसके बारे मे अभी अपने पत्ते नहीं खोलना चाहते।

Loading...

Leave a Reply