सेक्स के वक्त इन बातों के बारे में ना सोचें तभी मजा दोगुना होगा

नई दिल्ली:  सेक्स के अनुभव को कोई किसी को बता नहीं सकता जबतक इंसान खुद उसका एहसास ना करे। आमतौर पर लोग एक दूसरे से ये पूछते रहते हैं कि उसका पहली बार का अनुभव कैसा रहा, पार्टनर का उसके साथ कैसा बर्ताव रहा था, उसका सेशन कितनी देर चला, क्या वो अपने पार्टनर को पूरी तरह से संतुष्ट कर सका, खासकर पुरुषों के मन में इस बात को लेकर कई तरह की शंकाएं रहती हैं। एक्ट से पहले मन में अनचाहे गर्भ का डर भी बना रहता है। ये सारे वो सवाल हैं जिनके मन में आने के बाद लोग सही तरह से एक्ट नहीं कर पाते और शारीरिक रूप से उनका मिलन तो हो जाता है लेकिन उसमें रोमांच की कमी रह जाती है।

Men-condomless-sex-with-pretty-women

कोई भी कपल जब पहली बार सेक्स करते हैं और अगर उनकी चाहत उस वक्त बच्चे पैदा करने की ना हो तो वो ये सोचते हैं कि कहीं वो प्रेग्नेंट ना हो जाए। इस वजह से वो खुलकर एन्जॉय नहीं कर पाते। ये डर महिला और पुरुष दोनों के मन में एक समान होता है। और अगर संबंध अफेयर के दौरान बनाया जा रहा हो तब तो ये डर और भी ज्यादा होता है। इसलिए बेहतर है कि ऐसे डर को मन में लेकर संबंध बनाने से बेहतर है कि सुरक्षित सेक्स करें। जिसमें कंडोम का इस्तेमाल सबसे बेहतर है।

खासकर लड़कियों में इंटरकोर्स के दौरान इस बात की झिझक होती है कि अगर वो ज्यादा उत्तेजित होंगी तो उसका पार्टनर क्या सोचेगा। ऐसा सोचनेवालों के लिए सलाह ये है कि वो इस बात को मन से निकाल दें। बल्कि एक्ट के दौरान वो खुलकर अपने पार्टनर का साथ दें। क्योंकि दोनों के समान रूप से एक्ट में शामिल होने से ही संभोग सुख हासिल किया जा सकता है। बल्कि महिला हो या पुरुष दोनों मन में ये चाहते हैं कि उसका पार्टनर खुलकर उसका साथ दे। तो फिर झिझक किस बात की।

पहली बार संबंध बनाते वक्त इस बात का भी डर रहता है कि खासकर लड़कियों में कि दर्द कहीं मजा खराब ना कर दे। इस वजह से कई महिलाएं वर्जिन रहना ही पसंद करती हैं। लेकिन इस तरह का डर मन में पालना केवल एक भ्रम है। क्योंकि जरूरी नहीं की दर्द हो ही। और अगर संभोग के दौरान सही तरह से ल्यूब्रिकशन का ध्यान रखा जाए तो इस तरह के दर्द को काफी कम किया जा सकता है।

पुरुषों में सबसे बड़ा डर इस बात का रहता है कि वो पार्टनर को पूरी तरह संतुष्ट कर पाएंगे या नहीं। कहीं पार्टनर की संतुष्टि से पहले ही तो वो इजैकुलैट नहीं हो जाएंगे। तो इस बात को गांठ बांध लीजिये कि संबंध बनाते वक्त अति उत्तेजित ना हों। मन को काबू में रखें और सारा काम आराम से करें। ये सत्य है कि महिलाएं पुरुषों के मुकाबले देर से तैयार होती हैं। इसका उपाय ये है कि पुरुष पहले अपने पार्टनर को पूरी तरह से फोरप्ले के दौरान तैयार होने दें। उसके बाद एक्ट शुरु करें। ऐसा करने से आपका भ्रम और डर भी खत्म होगा। तभी आप बेहतर तरीके से एक्ट कर पाएंगे।

Loading...

Leave a Reply