आधार कार्ड अनिवार्य बनाने पर सुप्रीम कोर्ट से केंद्र सरकार को फटकार

नई दिल्ली:  सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से पूछा है कि वैल्पिक बनाने के आदेश के बावजूद आधार कार्ड को अनिवार्य क्यों किया गया? सुप्रीम कोर्ट में शुक्रवार को आयकर रिटर्न फाइल करने में आधार कार्ड को अनिवार्य करने से जुड़ी याचिका पर सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट के जज ने ये बात कही। सुप्रीम कोर्ट अगले हफ्ते इस मामले में फैसला भी सुना सकता है।

जानकरी के मुताबिक मामले की सुनवाई कर रहे जज ने सरकार से पूछा आप आधार कार्ड को जरुरी कैसे कर सकते हैं। जबकि कोर्ट की तरफ से इसे वैकल्पिक करने का आदेश दिया गया था। इसपर सरकार ने कहा सरकार के पास इसे इस्तेमाल करने के लिए कानून है। सरकार की तरफ से अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने कहा ऐसा पाया गया है कि तमाम फर्जी कंपनी फंड्स को ट्रांसफर करने के लिए पैन कार्ड का गलत इस्तेमाल करती हैं। इसे रोकने के लिए आधार कार्ड को अनिवार्य करना ही विकल्प है। कई लोग फर्जी पैन कार्ड भी बनवा लेते हैं।

इसे भी पढ़ें
पाकिस्तान ने पहली बार माना हाफिज सईद है आतंकी

दरअसल पिछले दिनों सरकार ने आयकर रिटर्न फाइल करने में, पैन कार्ड बनवाने या उसमें संशोधन करवाने के लिए आधार कार्ड को जरुरी कर दिया था। सरकार के इस कदम पर सुप्रीम कोर्ट ने नाराजगी जताई है। सुप्रीम कोर्ट ने अगस्त 2015 में ही ये साफ कर दिया था कि सरकारी स्कीमों के लिए आधार कार्ड को अनिवार्य नहीं किया जा सकता। कोर्ट ने सरकार को लोगों तक यह जानाकरी पहुंचाने के लिए भी कहा था कि आधार कार्ड बनवाना अनिवार्य नहीं है।

Loading...

Leave a Reply