इसबार राजपथ पर गणतंत्र दिवस की परेड में नहीं दिखेंगे घोड़े!

नई दिल्ली:  गणतंत्र दिवस पर राजपथ पर हर साल रंगारंग कार्यक्रम होता है। इसबार भी होगा लेकिन इस कार्यक्रम में कोई गैरहाजिर भी रहेगा। इसबार के गणतंत्र दिवस पर हो सकता है घोड़ों का शामिल नहीं किया जाए। हलांकि इसे लेकर अभी किसी तरह की आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है। दरअसल दिल्ली में घोड़ों में ग्लैंडर्स बीमारी फैल गई है। जिस वजह से घोड़ों के गणतंत्र दिवस कार्यक्रम में शामिल होने पर सस्पेंस बना हुआ है।

दिल्ली में 1500 में से तकरीबन 35 घोड़ों के सैंपल पॉजिटिव पाए गए हैं। इन घोड़ों को आइसोलेट किया गया है। इस मामले की गंभीरता को देखते हुए कृषि मंत्रालय ने भी आपात बैठक बुलाई है। ग्लैंडर्स एक लाइलाज बीमारी है। इस बीमारी से पीड़ित होने पर घोड़ों को मारना ही पड़ता है। इसलिए गणतंत्र दिवस पर घोड़ों की परेड पर सस्पेंस बना हुआ है।

कुछ दिनों पहले  खबर भी आई थी कि पशुपालन विभाग ने ग्लैंडर्स से पीड़ित सात घोड़ों को बेहोशी की दवा देकर मार दिया था।

ग्लैंडर्स पशुओं और इंसानों में एक संक्रमण बीमारी है। इस बीमारी में बैक्टीरिया सेल में प्रवेश कर जाता है। जो इलाज के बाद और दवाइयों के असर से भी पूरी तरह से खत्म नहीं होता। बीमार जानवर या इंसान की चपेट में आने पर दूसरे भी इससे संक्रमित हो जाते हैं।

यह बीमारी ऑक्सीजन के जरिये फैलती है। शरीर की गांठों में संक्रमण होने की वजह से घोड़ा उठ नहीं पाता है। जिसकी वजह से बाद में उसकी मौत हो जाती है। कह सकते हैं कि यह एक लाइलाज बीमारी है।

Loading...