अब हनीप्रीत बोलेगी राज खोलेगी, 5 दिन से किन पुलिस अधिकारियों के संपर्क में थी

नई दिल्ली:  38 दिनों की फरारी के बाद गिरफ्तार के बाद आज हनीप्रीत को अदालत में पेश किया गया। जहां से उसे पुलिस रिमांड में भेज दिया गया। अब पुलिस हनीप्रीत से पिछले 38 दिनों का हिसाब किताब पूछेगी और ये जानकारी जुटाएगी कि वो 25 अगस्त के बाद कहां कहां रही और किस किस के संपर्क में रही। क्योंकि अबतक ये साफ हो चुका है कि फरारी के दौरान हनीप्रीत किसी एक जगह पर नहीं रही।  वो हरियाणा, पंजाब, राजस्थान और दिल्ली घूमती रही। लेकिन हैरानी की बात ये है कि पुलिस उसे गिरफ्तार नहीं कर सकी।

एक न्यूज वेबसाइट ने सूत्रों के हवाले से खबर छापी है। जिसमें कहा गया है कि हनीप्रीत गिरफ्तारी के 5 दिन पहले से हरियाणा पुलिस के संपर्क में थी। लेकिन उसे गिरफ्तार नहीं किया गया। सवाल ये उठता है कि हरियाणा पुलिस हनीप्रीत पर इतनी मेहरबान क्यों थी। लेकिन मीडिया के सामने आने के बाद कुछ घंटे बाद ही हनीप्रीत को पंजाब के जीरकपुर से गिरफ्तार कर लिया गया।

सूत्र के मुताबिक हनीप्रीत के सरेंडर के बार में उसके वकील ने पहले ही पुलिस को जानकारी दे दी थी। मीडिया में अपने आंसू दिखाकर हनीप्रीत सहानुभूति बटोरने की कोशिश कर चुकी थी। हनीप्रीत ने यही चाल बुधवार को अदालत में जज के सामने भी चली। जहां वो खुद को बेकसूर बताकर रोने लगी। लेकिन उसके ये आंसू जज के सामने काम ना आ सके।

लेकिन सबसे बड़ा सवाल ये है कि अगर हनीप्रीत पिछले 5 दिनों से हरियाणा पुलिस के संपर्क में थी तो फिर उसकी गिरफ्तारी से क्यों खुद को रोकती रही। सूत्र ये भी बताते हैं कि पंजाब पुलिस को भी हनीप्रीत के बारे में जानकारी थी। लेकिन चुकी पंजाब में हनीप्रीत के खिलाफ कोई केस रजिस्टर्ड नहीं है इसलिए उसे गिरफ्तार नहीं किया गया।

सूत्र के मुताबिक हनीप्रीत चंडीगढ़ से कुछ किलोमीटर की दूरी पर पटियाला के बानुर इलाके में बने रिसॉर्ट में भी रही थी। हनीप्रीत को आगे क्या करना है ये सबकुछ डेरा की तरफ से उसे बताया जा रहा था। वहीं से उसे मीडिया के सामने आने की सलाह दी गई थी। 26 सितंबर को हनीप्रीत दिल्ली पुलिस के सामने सरेंडर करनेवाली थी। लेकिन बाद में प्लान बदल दिया गया।

Loading...

Leave a Reply