खट्टर की पुलिस बोली ‘आईये माता जी हम धन्य हुए!’ कैदी बोले अगले जनम मोहे हनीप्रीत ही कीजो

नई दिल्ली:  हरियाणा की पुलिस और सीएम खट्टर के सिस्टम ने पूरे सूबे के धन्य कर दिया। गुरुवार को शाम के चार बजे से अगले दो घंटे तक सरकार के संतरी इस तरह से नतमस्तक थे… इस तरह से नतमस्तक थे जैसे किसी कैदी के मुलाकाती नहीं आसमान से कृपा बरसाने वाले किसी फरिश्ते का परिवार अबाला की जेल में अपनी चरण धूली लेकर आ रहा हो। जिसके स्पर्ष करने मात्र से जीवन सफल हो जाता, पुराने पापों का प्रायश्चित हो जाता, इतने साल की सरकारी सेवा का फल प्राप्त हो जाता और तो और घर, गृहस्थी, परिवार, बच्चे-बच्ची सभी के धन धान्य और सुख समृद्धि की कामना पूरी हो जाती।

बात उसी कैदी हनीप्रीत की हो रही है जिनके बारे में कहा जाता है वो बलात्कारी राम रहीम की दत्तक पुत्री है। देशद्रोह के आरोप में हरियाणा की अंबाला जेल में बंद हैं मैडम हनीप्रीत। एक न्यूज वेबसाइट पर छपी खबर के मुताबिक उसी हनीप्रीत की मां अपने पूरे खानदान के साथ हरियाणा के अंबाला जेल में पधार रही थीं। जिस बेसब्री से हरियाणा सरकार के संतरी उनके आने का इतंजार कर रहे थे उसने बता दिया की जितनी बेचैनी एक मां को अपनी लाडली से मिलने की नहीं थी उससे ज्यादा बेचैन तो सीएम खट्टर की पुलिस थी। जो अंबाला जेल की गेट पर तैनात थे माता जी के स्वागत के लिए।

हनीप्रीत की मां की गाड़ी दनदनाती हुई शाम के चार बजे अंबाला जेल के गेट पर पहुंची। हनीप्रीत की मांग को गेट पर इंतजार ना करना पड़े इसलिए दरवाजे पर गाड़ी के पहुंचने के साथ ही जेल का स्वागत द्वार खुल गया। संतरियों ने सलामी दी मन ही मन सोचा जिस मुलाकात और अनमोल पल का इंतजार था वो पूरा हुआ। अब तो हनीप्रीत खुश हो जाएगी। शाम के चार बजे अंबाला गेट के जेल का दरवाजा खुला हनीप्रीत की मां पूरे खानदान के साथ अपनी बेटी से मिलने जेल में दाखिल हुई और गेट बंद हो गया।

अगले पेज पर जाने के लिए नीचे स्क्रॉल करें

Loading...

Leave a Reply