अब मोदी सरकार पेट्रोल-डीजल की भी होम डिलीवरी करेगी!

नई दिल्ली:  तेल मंत्रालय ने ट्वीट कर जानकारी दी है की वो पेट्रोल-डीजल की होम डिलीवरी करने पर विचार कर रहा है। मंत्रालय के मुताबिक वो इस बात का आकलन कर रहा है कि किन जगहों पर ये मुमकिन हो सकता है। लेकिन इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए पहले से बुकिंग करानी होगी। मौजूदा वक्त में पेट्रोलियम उत्पाद में गैस सिलिंडर की होम डिलीवरी होती है। जबकि कुछ शहरों में बिना सब्सिडी वाला केरोसीन तेल की होम डिलीवरी होती है।

इस नई शुरुआत के पीछ तेल मंत्रालय का मानना है कि इससे पेट्रोल पंप पर लोगों की कतार कम होगी। लोगों के वक्त की बचत होगी और उन्हें परेशानी भी नहीं होगी अगर उन्हें घर बैठे ही पेट्रोल-डीजल की होम डिलीवरी मिल जाएगी। मौजूदा वक्त में देशभर में 59 हजार 595 पेट्रोल पंप हैं। जहां पेट्रोल और डीजल दोनों की बिक्री होती है। जबकि कुछ पंपों पर सीएनजी और कुछ पर ऑटो में इस्तेमाल होनेवाले एलपीजी की भी बिक्री होती है।

वैसे महीने की दो तारीख ऐसी है जब पेट्रोल पंपों पर ज्यादा भीड़ होती है। ये दो तारीख हें 15 और 31 या 30 तारीख। इसकी वजह ये है कि इन दो तारीखों में तेल कंपनियां तेल की कीमत की समीक्षा करती हैं। और पेट्रोल और डीजल की खुदरा कीमत में फेरबदल होती है।

इस नई सोच के पीछे एक वजह डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देना भी है। नोटबंदी से पहले 20 फीसदी पेट्रोल-डीजल की बिक्री डिजिटल माध्यम से होती थी लेकिन नोटबंदि के बाद अब 50 फीसदी बिक्री डिजिटल माध्यम से होती है। सरकार इसे अब और बढ़ाना चाहती है।

Loading...

Leave a Reply