सतलोक आश्रम का प्रधान रामपाल दो मामलों में दोषी करार

हिसार/हरियाणा:  सतलोक आश्रम का प्रमुख रामपाल को दो मामलों में दोषी करार दिया गया है। रामपाल पर सजा का एलान 16-17 अक्टूबर को होगा। 2014 में बरवाला आश्रम में हिंसा हुई थी जिसमें 5 महिला और 1 बच्चे की मौत हुई थी। इस मामले में रामपाल को दोषी करार दिया गया है। 2014 में रामपाल को आश्रम से निकालकर जेल ले जाने में पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी थी। 10 दिनों तक पुलिस और रामपाल के बीच चोर सिपाही का खेल चलता रहा था।

इसी दौरान 18 नवंबर 2014 को रामपाल के सतलोक आश्रम से महिला की लाश बरामद की गई थी। उसकी संदिग्ध मौत के बाद आश्रम पर सवाल उठ रहे थे। पुलिस ने काफी मशक्कत के बाद लाश को आश्रम से निकालकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा था।

पुलिस 10 दिनों तक रामपाल के सतलोक आश्रम के बाहर डटी रही। आश्रम के भीतर से रामपाल के समर्थक पुलिस पर हमला कर रहे थे और आश्रम के बाहर से पुलिस उसका जवाब दे रही थी। इस दौरान हरियाणा सरकार की कार्यशैली पर भी गंभीर सवाल उठे थे। 10 दिनों तक हुई हिंसा में 4 महिला और एक बच्चे की मौत हो गई थी।

आखिरकार 19 नवंबर की रात पुलिस रामपाल को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारी के बाद उसे पंचकुला के अस्पताल ले जाया गया। वहां मेडिकल जांच के बाद रामपाल को चंडीगढ़ ले गई थी हरियाणा पुलिस। रामपाल की गिरफ्तारी में 50 करोड़ रुपये खर्च हुए थे। कई पुलिसकर्मियों को भी इसमें गंभीर चोट आई थी।

(Visited 22 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *