हिमाचल प्रदेश में नेताओं को ब्यूटी एक्सपर्ट शहनाज हुसैन दे रही हैं चुनाव जीतने के टिप्स!

नई दिल्ली:  चुनाव में पार्टी की रणनिति से अलग भी एक बेहद ही जरुरी चीज है जिसका असर चुनाव के नतीजों पर पड़ता है। इसे लेकर अब अलग अलग राजनीतिक दलों के उम्मीदवार जागरूक भी हो रहे हैं। उन्हें भी इस बात का एहसास होने लगा है कि चुनाव जीतने में केवल पार्टी का एजेंडा और चुनावी वादों पर अमल करने की बात करना ही काफी नहीं है। वोटरों पर अपनी छाप छोड़ने के लिए जरुरी है कि उम्मीदवार ऊर्जावान और स्वस्थ्य दिखाई दे। चेहरे पर चुनाव प्रचार की थकान ना दिखे और चेहरे पर तेज बना रहे।

इन्हीं सब चीजों को किस तरह से बरकरार रखा जाए इसके लिए ब्यूटी एक्सपर्ट शहनाज हुसैन हिमाचल प्रदेश में अपनी किस्मत आजमा रहे उम्मीदवारों को ब्यूटी टिप्स दे रही हैं। जिसमें वो बता रही हैं कि किस तरह से चेहरी की खूबसूरती बनाई रखी जाए। हिमाचल में अलग अलग जगहों पर मौसम का मिजाज अलग अलग है। इसलिए उनके अनुकूल अपनी त्वचा को बनाए रखने के लिए जरूरी है कि उसी सही तरीके से देखभाल की जाए।

उम्मीदावों के लुक्स को लेकर सर्वे भी हो चुके हैं। जिसमें मतदाताओं की पसंद सामने आ चुकी है। लोगों ने कहा उन्हें साफ सुथरा, आकर्षक डील डौल वाला उम्मीदवार पसंद है। उनका उम्मीदवार खुशमिजाज, ऊर्जावान और विश्वास से भरा होना चाहिए।

सर्दी की शुरुआत के साथ ही हवा में नमी की कमी होने लगती है। ऐसे में दिन भर धूप, धूल, मिट्टी, कच्ची सड़कों और प्रदूषण का सामना करते हुए प्रचार करना किसी चुनौती से कम नहीं है। दिनभर धूप में घूमने की वजह से त्वचा सूख जाती है और चेहरे पर पपड़ी जम जाती है और होंठ फटने लगते हैं। धूल की वजह से कील मुहासे भी निकलने लगते हैं। इन सब का उम्मीदवार के व्यक्तित्व पर विपरीत प्रभाव पड़ता है। जिससे मतदाताओं का उसके प्रति आकर्षण कम होने का खतरा रहता है।

किस तरह से रखें चुनाव प्रचार में अपन ध्यान

चुनाव प्रचार में बालों पर मौसम और धूल मिट्टी का विपरीत असर ना हो इसके लिए हर्बल शैम्पू का इस्तेमाल करें। नियमित रूप से बालों को हर्बल शैम्पू से साफ करें।

हिमाचल के निचले इलाके में सूर्य की अल्ट्रा वायलेट किरणों का सीधा प्रभाव पड़ता है। जिससे त्वचा में नमी की कमी हो जाती है। जिसकी वजह से चेहरा सूखा और झुर्रियों से भरा लगने लगता है। उम्मीदवार अपनी त्वचा पर नमी बनाए रखने के लिए 30 या 40 एसपीएफ वाले सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें। अगर दिन में 10-12 घंटे धूप में आपको रहना पड़ता है तो आप दिन में दो बार सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें।

धूप में निकलने के सिवाय कोई चारा भी नहीं है। लेकिन मौसम में नमी का सीधा असर आपके चेहरे पर पड़ता है। इसलिए पहले चेहरे पर अच्छी तरह से मॉश्चराइज करें। क्रीम लगाने के बाद उसे कुछ देर तक के लिए छोड़ दें। जब क्रीम पूरी तरह से सूख जाए तब उसपर सन स्क्रीन लगाएं। जिससे कि धूप में भी आपकी त्वचा पर नमी बनी रहे।

पर्वतीय क्षेत्रों में अकसर सर्दियों के मौसम में होंठ फट जाते हैं। इसके लिए रात के वक्त बादाम का तेल लगाकर अपने होठों पर हल्का सा मसाज करें। इसे रात भऱ रहने दें। सुबह तक आपके होंठ नर्म हो जाएंगे।

नोट: वेबसाइ पर छपी रिपोर्ट पर आधारित

Loading...

Leave a Reply