delhi highcourt

ससुराल में बहू संतान है या रिश्तेदार अब दिल्ली हाईकोर्ट इसपर फैसला करेगा

ससुराल में बहू संतान है या रिश्तेदार अब दिल्ली हाईकोर्ट इसपर फैसला करेगा

नई दिल्ली:  पारिवारिक रिश्तों को लेकर दिल्ली हाईकोर्ट के सामने एक बेहद ही अहम मामला आया है। जिसमें मुद्दा ये है कि बहू को ससुराल में संतान माना जाए या रिश्तेदार। इससे जुड़ी याचिका पर दिल्ली हाईकोर्ट सुनवाई करेगा।

दरअसल हाल ही में दिल्ली हाईकोर्ट ने एक फैसला दिया था। जिसमें कहा गया था कि अगर संतान के नाम पर संपत्ती नहीं है और संतान का बर्ताव माता-पिता के साथ अपमानजनक है तो माता-पिता उसे घर से निकाल सकते हैं। इसी फैसले को आधार मानते हुए माता पिता और वरिष्ठ नागरिकों की देखभाल एवं कल्याण समिति अधिनियम 2007 के तहत गठित न्यायाधिकरण ने सास की याचिका पर एक महिला को ससुराल से निकल जाने का आदेश दिया था। इसी आदेश को महिला ने हाईकोर्ट में चुनौती दी है।

याचिका में कहा गया है कि वरिष्ठ नागरिक अधिनियम के तहत बहू संतान या रिश्तेदार की परिभाषा में नहीं आती है। महिला का आरोप है कि उसका पति और सास उसे घर से निकालने की कोशिश कर रहे हैं। क्योंकि उसने पति और सास के खिलाफ घरेलू हिंसा का केस दर्ज करवाया था। हाईकोर्ट न्यायाधिकरण के फैसले पर रोक लगा चुका है। हाईकोर्ट में इस मामले पर 31 जुलाई को सुनवाई होगी।

Loading...

Leave a Reply