हरियाणा के जींद में निर्भया कांड, गैंगरेप के बाद छात्रा की निर्मम हत्या

हरियाणा के जींद में निर्भया कांड, गैंगरेप के बाद छात्रा की निर्मम हत्या

नई दिल्ली:  पांच साल पहले दिल्ली में 16 दिसंबर 2012 को हुए निर्भया कांड ने पूरे देश को झकझोर दिया था। कई बड़े दावे किये गए थे। लेकिन कागजों में तैयार सुरक्षा योजनाओं और देश की बेटियों को सुरक्षित माहौल देने के सारे दावे हवा हवाई साबित हुए। आज बेटियों को स्वाभिमान बताने वाला कैंपेन भले ही सोशल मीडिया में चलाया जा रहा है लेकिन हकीकत ये है कि वही बेटी आज खुद को महफूज महसूस नहीं कर रही हैं।

जिस राज्य से बेटी बचाओ बेटी पढ़ाई की शुरुआत की गई थी उसी हरियाणा के कुरूक्षेत्र की छात्रा के साथ जींद में गैंगरेप किया गया। बलात्कार के बाद छात्रा की हत्या कर दी गई। जिस तरह से दिल्ली की निर्भया के साथ गैगरेप के बाद किया गया था उसी तरह से जींद में भी गैंगरेप के बाद छात्रा के निजी अंगों में नुकीली चीज डाल दी गई थी। इसके बाद पानी में डूबोकर उसकी हत्या कर दी गई।

गैंगरेप के बाद हुई छात्रा की निर्मम हत्या पर परिजनों का गुस्सा भड़क पड़ा है। गांववालों ने शव को घर के बाहर रखकर धरना शुरु कर दिया है। छात्रा का शव जैसे ही कुरुक्षेत्र पहुंचने के बाद से ही गांववाले आक्रोशित हैं। गांव के हालात को देखते हुए वहां भारी पुलिसबल तैनात कर दी गई है। पुलिस ने इस मामले में गांव के ही पांच लड़कों को हिरासत में लिया है।

9 जनवरी को कुरुक्षेत्र में अपने घर से ट्यूशन  पढ़ने निकली थी 10वीं की छात्रा। उसी दौरान रास्ते से उसका अपहरण कर लिया। आरोपियों ने जींद के बुढ़ाखेड़ा गांव में छात्रा से गैंगरेप किया और उसके बाद निर्ममता से उसकी हत्या कर दी गई।

Loading...