हरियाणा 10 वीं बोर्ड में एक सरकारी स्कूल की सभी छात्राएं फेल

नई दिल्ली:कहते है एक बेटी पढ़ाओ सारा परिवार जानकार बनेगा।लेकिन हरियाणा के एक कन्या विद्यालय को देखकर यह साबित हो जाता है कि हरियाणा की भाजपा सरकार’बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’को कितना हल्का ले रहे है।यह बस भाजपा सरकार के लिए चुनाव का नारा बनकर रह गया है। जो 10वीं की रिजल्ट के साथ उभर कर बाहर आया है।

हरियाणा सरकार की बेटी की शिक्षा और सुरक्षा के प्रति जागरूकता हिसार जिले में साफ देखा जा सकता है।जहां काबरेल गांव के राजकीय कन्या माध्यमिक विद्यालय की सभी छात्राएं इस वर्ष 10वीं की परीक्षा में फेल हो गई हैं।

हरियाणा स्कूल शिक्षा बोर्ड ने पिछले महीने नतीजे घोषित किए थे।जिनमें स्कूल में पढ़ने वाली सभी 24 छात्राएं फेल हो गईं। शिक्षा विभाग के अधिकारियों के मुताबिक, यह जिले का एकमात्र स्कूल है जिसका प्रदर्शन इतना खराब रहा है।

लेकिन ग्रामीणों द्वारा खराब रिजल्ट का कारण हरियाणा सरकार और शिक्षा विभाग को बताया है।उन्होंने बताया कि स्कूल में स्टाफ की कमी के बारे में कई बार छात्राओं ने शिकायत की लेकिन कोई सुनने वाला नही था।

ग्रामीणों ने बताया कि ग्राम पंचायत द्वारा जिला प्रशासन से कई बार मिलकर स्कूल में पर्याप्त संख्या में शिक्षक मुहैया कराने की मांग की गयी।लेकिन स्थिति जस की तस बनी रही।

गांव के सरपंच धर्म सिंह का कहना है कि पिछले शैक्षणिक सत्र में स्कूल में संस्कृत, हिंदी, विज्ञान और गणित के शिक्षक नहीं थे।वही स्कूल के एक शिक्षक ने बताया कि चार साल से हेडमास्टर का पद खाली पड़ा है। और साथ ही परीक्षा विफल रही 24 छात्राओं में से 15 ने स्कूल में फिर से दाखिला लिया है।

(Visited 14 times, 1 visits today)
loading...