हार्दिक ने कांग्रेस को समर्थन का एलान किया, सत्ता में आते ही मिलेगा आरक्षण

नई दिल्ली:  गुजरात की सियासत में एक बार फिर से नया ट्विस्ट आया है। जिसमें एक नई चुनौती खड़ी हुई है बीजेपी के सामने और बड़ी राहत की खबर है कांग्रेस के लिए। इसबार के गुजरात चुनाव में पाटीदार निर्णायक भूमिका निभा सकते हैं। अबतक ये सवाल पूछा जा रहे थे कि क्या हाथ को हार्दिक का साथ मिलेगा? इस सवाल का जवाब खुद हार्दिक पटेल ने दिया। हार्दिक ने प्रेस कांफ्रेंस कर एलान किया कि उन्हें आरक्षण पर कांग्रेस का फॉर्मूला मंजूर है। राज्य में कांग्रेस के सत्ता में आते ही पाटीदारों को आरक्षण देने के लिए विधानसभा में बिल लाया जाएगा।

हार्दिक ने कहा पाटीदार आरक्षण की मांगों को कांग्रेस ने माना है। कांग्रेस ने कहा है कि वो सत्ता में आने के बाद संविधान के मुताबिक प्रस्ताव पास करेगी। उन्होंने कहा कांग्रेस ने पाटीदारों को सेक्शन 31 और सेक्शन 46 के प्रावधान के तहत आरक्षण देने का भरोसा दिया है। पाटीदारों को 50 फीसदी से ज्यादा आरक्षण दिया जा सकता है। हमें कांग्रेस का फॉर्मूला मंजूर है। कांग्रेस को घोषणापत्र में आरक्षण का पूरा फॉर्मूला पूरे सॉल्यूशन के साथ शामिल करना होगा।

बीजेपी पर हमला करते हुए हार्दिक ने कहा हमारी मांगें केवल पाटीदार समाज के लिए नहीं है। हमने बीजेपी से समाज के दूसरे वर्गों के लिए भी बात की थी। लेकिन उनकी नीयत ठीक नहीं थी। कांग्रेस पार्टी ने हमारी बात सुनी है। बीजेपी के खिलाफ हमारी लड़ाई जारी रहेगी। बीजेपी से हमारी दुश्मनी नहीं है लेकिन देश आजाद होने के बाद हर किसी को अधिकार है कि वो अपने हक की लड़ाई लड़ सके। मैं कांग्रेस के समर्थन और प्रचार की वकालत नहीं करता हूं। मैं सौदेबाजी के खिलाफ हूं। अपने लोगों के लिए कभी कांग्रेस से टिकट नहीं मांगा। लेकिन इतना चाहता हूं कि अगर टिकट मिले तो पाटीदार भी चुनाव लड़ें।

बीजेपी पर गंभीर आरोप लगाते हुए हार्दिक ने कहा पाटीदारों का वोट डायवर्ट करने के लिए बीजेपी ने 200 करोड़ खर्च किये। बीजेपी ने निर्दलीय उम्मीदवारों को खड़ा किया है। मैं पाटीदार समाज से अपील करता हूं कि वो निर्दलीय उम्मीदवारों को वोट ना दें।

Loading...