हार्दिक पटेल ने कांग्रेस को दिया 3 नवंबर तक का अल्टीमेटम

नई दिल्ली:  जिस समर्थन के भरोसे गुजरात में कांग्रेस बीजेपी को चुनौती देने और चुनाव में पटकने का मन बना रही है उस कांग्रेस के सामने एक नई चुनौती आ गई है। गुजरात के पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने ट्वीट कर कांग्रेस को पाटीदार आरक्षण पर अपना रुख साफ करने के लिए कहा है। हार्दिक ने कांग्रेस से केवल उसका रूख और नीती के बारे में ही नहीं पूछा है बल्कि उसने इसके लिए कांग्रेस को डेडलाइन भी दे दी है।

हार्दिक पटेल ने कांग्रेस के सामने डेडलाइन रखते हुए पूछा है कि 3 नवंबर तक कांग्रेस पाटीदार को संवैधानिक आरक्षण कैसे देंगी, उस मुद्दे पर अपना स्टैंड क्लीयर कर दे नहीं तो अमित शाह जैसा मामला सूरत में होगा।

https://twitter.com/HardikPatel_/status/924178466404171776

दरअसल सूरत में अमित शाह की रैली में पाटीदारों ने जमकर हंगामा किया था। यानि हार्दिक ने अपने इस ट्वीटर के जरिये कांग्रेस के सामने अपना स्टैंड भी एक तरह से साफ कर दिया है। कि वो समर्थन इसलिए देगी क्योंकि उसे आरक्षण चाहिए। अब गुजरात चुनाव में पाटीदारों का समर्थन हासिल करने के लिए हार्दिक ने गेंद कांग्रेस के पाले में डाल दिया है।

हार्दिक और कांग्रेस की नजदीकी को लेकर गुजरात में पिछले दिनों से सियासत गर्म है। एक तरफ ये कहा जा रहा है कि हार्दिक पटेल गुपचुत तरीके से कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से मिल चुके हैं। और दोनों नेताओं के बीच डील हो गई है। इस दावे को लेकर होटल में लगे सीसीटीवी फुटेज को भी आधार बनाया गया। जिसके बाद हार्दिक पटेल ने इस मुलाकात का खंडन करते हुए कहा कि जब राहुल से मिलूंगा तो पूरी दुनिया को पता चल जाएगा और सभी के सामने मिलूंगा।

दूसरी तरफ हार्दिक पटेल के सामने मुश्किल ये है कि आरक्षण के मुद्दे को हवा देकर पाटीदारों को बीजेपी से अलग तो कर दिया लेकिन अभी तक पूरी तरह से कांग्रेस के पक्ष में जाने का वो मन नहीं बना सके हैं। यही नहीं कांग्रेस को समर्थन देने को लेकर पाटीदारों को बुजुर्ग और युवा में भी मतभेद की खबर आई है। इसलिए हार्दिक के लिए भी ये जरुरी हो गया है कि सभी पाटीदारों को कांग्रेस के पक्ष में करने के लिए उसे पार्टी से इस बात के पुख्ता प्रणाण लेना होगा कि अगर उनकी सरकार बनती है तो पाटीदारों का आरक्षण पक्का है। इस भरोसे को लेकर हार्दिक पाटीदारों के बीच जाना चाहते हैं।

Loading...