hafiz saeed and syed salahuddin meeting

बुरहान वानी की मौत के बाद POK में जुटी हाफिज-सलाउद्दीन की आतंकी जोड़ी

बुरहान वानी की मौत के बाद POK में जुटी हाफिज-सलाउद्दीन की आतंकी जोड़ी

जम्मू कश्मीर में हिजबुल आतंकी बुरहान वानी की मौत के बाद पाकिस्तान एक बार फिर बेनकाब हुआ है। बुरहान की मौत के बाद पाक अधिकृत कश्मीर POK के मुजफ्फराबाद में जमात उद दावा प्रमुख हाफिज सईद और हिजबुल कमांडर सैयद सलाउद्दीन के बीच मीटिंग हुई। ये मीटिंग हिजबुल के बेस पर हुई। हाफिज सईद जमात उद दावा के साइबर सेल के साथ पहुंचा था। इस मीटिंग में कहा गया कि पाकिस्तान को इस मौके का फायदा उठाना चाहिए।

POK के मुजफ्फराबाद में सैयद सलाउद्दीन और हाफिज सईद की इस मुलाकात के बाद एक बार फिर साबित हो चुका है कि पाकिस्तान में आतंकियों को किस हद तक सरकार का संरक्षण प्राप्त है। आतंकी खुले मंच से भारत विरोधी एजेंडे का एलान करते हैं। और पाकिस्तान सरकार उसपर खामोश रहती है। शनिवार को मुजफ्फराबाद में हुए इस मीटिंग में भी यही किया गया।

मुजफ्फराबाद के इस श्रद्धांजली मीटिंग में दोनों आतंकी सरगनाओं ने सभा को संबोधित किया। कहा ये भी जा रहा है कि हाफिज ने साइबर सेल के जरिये भारत विरोधी भावना भड़काने की बात कही है। पूरे पाकिस्तन में जमात उद दावा पहले से ही साइबर सेल चला रहा है। हाल के कुछ वर्षों से हाफिज सोशल मीडिया के जरिये लोगों को भारत विरोधी गतिविधियों से जोड़ने की कोशिश कर रहा है।

हलांकी हिजबुल के मुकाबले जमात उद दावा की घाटी में मौजूदगी काफी कम है। हाफिज घाटी में अपनी सक्रियता बढ़ाने की कोशिश में लगा है।

Loading...

Leave a Reply