इस वजह से बीजेपी गुजरात में उम्मीदवारों का एलान नहीं कर रही है!

नई दिल्ली:  गुजरात चुनाव के पहले चरण में अब केवल तीन हफ्ते ही बाकी बचे हैं। लेकिन बीजेपी की तरफ से अभी तक उम्मीदवारों की लिस्ट जारी नहीं की गई है। इसे लेकर चर्चा और कयासों का दौर भी जारी है। बीजेपी की तरफ से उम्मीदवारों के नामों के एलान में हो रही देरी के पीछे बीजेपी की एक बड़ी रणनीति तैयार हो रही है। इसकी एक वजह तो ये है कि कांग्रेस की तरफ से तैयार हो रही जातिगत रणनीति का तोड़ तलाश करने को कोशिश है तो दूसरी तरफ इसका कनेक्शन यूपी से जोड़ा जा रहा है।

माना जा रहा है कि बीजेपी ने जिस तरह से यूपी के विधानसभा चुनाव में प्रचंड जीत हासिल की थी उसी तर्ज पर गुजरात में भी जीत हासिल करने की कोशिश में है। इसका मतलब ये है कि बीजेपी ने दूसरे के बागियों पर पूरा भरोसा जताया गया था। पार्टी में आए नए उम्मीदवारों को टिकट देकर बीजेपी ने यूपी में बड़ी जीत हासिल की। अब इसी फॉर्मूले को बीजेपी यूपी में भी आजमाने की कोशिश में है।

पार्टी का पहले चरण का प्रचार खत्म हो चुका है। कांग्रेस जहां हार्दिक, जिग्नेश और कल्पेश को आसपास रखकर राज्य में जीत की रणनीति तैयार कर रही है वहीं बीजेपी ने कैबिनेट मंत्री और दूसरे राज्यों के सीएम को गुजरात की जनता के सामने उतार चुकी है। खुद योगी आदित्यनाथ भी गुजरात में कई दौर का प्रचार कर चुके हैं। दोनों पार्टियों ने चुनाव प्रचार के बाद मिले फीडबैक के बाद इतना तो अंदाजा लगा लिया है कि किस इलाके में जनता किस तरह के कैंडिडेट चाहती है। इनकी कोशिश है कि जनता की पसंद को ध्यान में रखकर उम्मीदवार के नाम तय किये जाएं। ताकि नाकामी का जोखिम कम से कम हो।

बुधवार को दिल्ली में बीजेपी के पार्टी मुख्यालय में पीएम नरेंद्र मोदी, राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, गुजरात के सीएम विजय रुपाणी, गुजरात बीजेपी अध्यक्ष जीतू वघानी समेत कई वरिष्ठ नेता शामिल थे। बैठक के बाद जेपी नड्डा ने बताया कि चुनाव समिति की बैठक में गुजरात की सभी सीटों के टिकट पर चर्चा की गई। सही वक्त पर उम्मीदवारों का एलान किया जाएगा।

टिकट को लेकर एक बैठक कांग्रेस की भी थी। लेकिन उसे रद्द कर दी गई। अब 17 नवंबर को कांग्रेस उम्मीदवारों के नामों पर चर्चा करेगी। दोनों पार्टियां जिस तरह से उम्मीदवारों के नामों का एलान करने से बच रही हैं उससे ये भी साफ हो जाता है कि दोनों पार्टियां इस इंतजार में हैं कि उम्मीदवारों पर पहले सामने वाली पार्टी अपने पत्ते खोले।

Loading...

Leave a Reply