पाटीदार-कांग्रेस में बात बनी लेकिन टिकट बंटवारे के बाद दोनों कार्यकर्ताओं में ‘दे दना दन’

नई दिल्ली: रविवार को देर शाम कांग्रेस ने गुजरात चुनाव के लिए उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी कर दी। कांग्रेस की इस पहली लिस्ट में 77 उम्मीदवारों के नाम शामिल हैं। जिनमें दो टिकट पाटीदार नेताओं को भी दिय गए हैं। लेकिन कांग्रेस की ये कोशिश उसी पर भार पड़ गई। मन माफिक टिकट ना मिलने की वजह से अहमदाबाद में कांग्रेस मुख्यालय से लेकर सूरत की सड़कों तक पाटीदारों का हंगामा शुरु हो गया। अहमदाबाद और सूरत में कांग्रेस दफ्तर में तोड़फोड़ भी की गई।

पाटीदार आंदोलन समिति के कनवेनर दिनेश बामनिया ने कहा उम्मीदवारों के नामों का एलान बिना उनके साथ बीतचीत किये की गई है। पाटीदारों ने गुजरात कांग्रेस के अध्यक्ष भरत सिंह सोलंकी के घर के बाहर भी जमकर हंगामा किया। इस हंगामे पर सोलंकी की तरफ से कोई बयान नहीं आया है। लेकिन पाटीदारों की तरफ से बामनिया ने कहा बिना उनके साथ बातचीत के ये लिस्ट जारी की गई।

हंगामा इसलिए शुरु हुआ क्योंकि लिस्ट जारी होने से पहले ये खबर आई थी कि पाटीदार नेता और हार्दिक के बेहद करीबी ललित वसोया को धोराजी और पाटीदार आंदोलन समिति के निलेश कंबानी को कमरेज से टिकट दिया गया है। जबकि वराछा विधानसभा से कांग्रेस उम्मीदवार प्रफुल तोगड़िया के दफ्तर पर पाटीदारों ने जमकर हंगामा और तोड़फोड़ की।

इस हंगामे के पीछे सीटों को लेकर भी असहमति है। पाटीदार कांग्रेस से 25 सीटों की मांग कर रहे हैं। लेकिन कांग्रेस 11 से ज्यादा सीट देने  के पक्ष में नहीं है।

Loading...