honey-trap

भारत से संवेदनशील जानकारी हासिल करने के लिए ISI का ‘हनी ट्रैप’!

भारत से संवेदनशील जानकारी हासिल करने के लिए ISI का ‘हनी ट्रैप’!

दिल्ली: अहम और संवेदनशील जानकारी हासिल करने के लिए पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI भारत में हनीट्रैप का इस्तेमाल कर रही है। ऐसे ही एक हनीट्रैप का खुलास गुजरात के कच्छ से हुई गिरफ्तारी के बाद हुआ है। एटीएस ने गुजरात के कच्छ से पाकिस्तान के लिए जासूसी करनेवाले दो संदिग्धों को गिरफ्तार किया है। शुरुआती पूछताछ के बाद पता चला है कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI ने इन्हें अपने लिए इस्तेमाल करने के लिए हनी ट्रैप का सहारा लिया।

ISI ने हनी ट्रैप में पाकिस्तानी महिला का इस्तेमाल किया और इनदोनों संदिग्धों से पाकिस्तान के लिए जासूसी करवाई। गुजरात में कच्छ का इलाका पाकिस्तान से सटा हुआ है। एटीएस को कच्च के खावड़ा गांव के दो निवासियों पर पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI के लिए जासूसी करने का शक था। उनपर पिछले एक साल से नजर रखी जा रही थी।

गिरफ्तार तथाकथित जासूसों के घर की जब तलाशी ली गई तो उनके घर से एटीएस ने एक पाकिस्तानी सिम कार्ड और एक मोबाइल फोन बरामद किया है। ये गिरफ्तारी ऐसे समय में हुई है जब भारत पाकिस्तान के बाद हालात तनावपूर्ण हैं। गिरफ्तार शख्स से पूछताछ में कई और अहम जानकारी भी निकलकर सामने आ सकती है।

पिछले साल भटिंडा एयरफोर्स स्टेशन पर तैनात एक जवान रंजीत केके को जासूसी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। रंजीत कई साल से सोशल मीडिया पर दामिनी मैकनॉट नाम की महिला के संपर्क में था। वहां भी एक हनीट्रैप ही बिछाया गया था।

Loading...

Leave a Reply