ग्रैंड मास्टर शिफूजी ने इस वीडियो में कश्मीर के गद्दारों की हवा निकाल दी

नई दिल्ली:  ग्रैंड मास्टर शिफूजी शौर्य भारद्वाज ने एक वीडियो जारी किया है। जिसमें उन्होंने कश्मीर के उन पत्थरबाजों को सीधी चुनौती दी है जो सेना पर आए दिन पत्थर फेंकते हैं। वीडियो के शुरुआत में ही शिफूजी ने कहा है कि तुम रोज सेना पर पत्थर फेंकते हो। लेकिन मेरे जवानों कमजोर मत समझना। क्योंकि जिस दिन ये अपने पे आ जाएंगे ना उस दिन तुम्हारी हस्ती मिट जाएगी।

उन्होंने कहा का फौज के इन चिरागों को मत छूना वर्ना उंगलियां जल जाएंगी। तुम्हें मेरे सिपाही छोड़ देते हैं केवल इस एक शर्त पर कि अगर आ गए अपनी पर तो ला देंगे तेरी हस्ती को गर्त पर। कश्मीर में उस फर्जी आजादी के लिए कुछ पत्थरों से लड़ जाते हैं। और इन जैसे गद्दारों के लिए कुछ वहां सिपाही बर्फ में मर जाते हैं।

इसे भी पढ़ें
कार्यक्रम में 12 मिनट की देरी पर अधिकारियों पर भड़के गृह मंत्री राजनाथ सिंह

शिफूजी ने अपने इस कड़े संदेश में कहा है कि कश्मीर के उन पत्थरबाजों को और कितनी बार समझाऊं। कि ऐसा मत करो। फौज पर पत्थर मत चलाओ। इससे पहले भी कई बार उनसे ये बातें कही जा चुकी है। उन्होंने कहा मैं उन पत्थरबाजों को बताना चाहूंगा जो लोग उनसे ये काम करवा रहे हैं न वो अपने बच्चों को विदेशों में पढ़ाते हैं और तुम पढ़ लिख नहीं सको इसलिए तुमसे पत्थर फेंकवाते हैं। क्योंकि अगर तुम पढ़ लिख गए तो राजनीति समझ जाओगे।

इसे भी पढ़े
‘मोदी की साजिश’ वाले लालू के बयान से बीजेपी नेता विनय कटियार सहमत हैं!

जिस फौज के सिपाहियों पर तुम पत्थर फेंकते हो वही फौज के सिपाही बाढ के वक्त में तुम्हारे परिवार के लिए सहारा बनते हैं। खुद घंटों बाढ़ के पानी में खड़े रहकर तुम्हारे परिवार को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाते हैं। उस वक्त तुम्हारे ये रहनुमा क्यों नहीं सामने आते हैं। जिस फौज को तुम पत्थर से मारते हो उसी फौजी कैंप के बाहर कश्मीर के हजारों लोग राशन के लिए लंबी कतार में खड़े होते हैं। लेकिन उस फौजी का दिल देखो कितना बड़ा हो जो बिना किसी बैर को वो हर किसी को राशन देता है।

इसे भी पढ़ें
वित्त मंत्री से महिलाओं की अपील वित्त मंत्री जी #लहूकालगान मत लो

झारखंड का सिपाही जम्मू-कश्मीर में बर्फ में खड़ा रहता है केवल इसलिए क्योंकि तुम सुरक्षित रह सको। शिफू जी ने साफ शब्दों में पाकिस्तान में बैठे और कश्मीर में बैठे उन गद्दारों को भी बता दिया है कि जिस कश्मीर को वो अपना बनाना चाहते हैं वो कश्मीर भारत का था , भारत का है और भारत का ही रहेगा। उन्होंने कहा जिस आजादी के नाम पर पत्थरबाजों को भड़काया जा रहा है दरअसल वो आजादी के लिए नहीं गद्दारी के लिए पत्थरबाजों को तैयार कर रहे हैं। उन्होंने इसके साथ ही कहा कि पत्थर मारने के बाद भी उन्हें बख्श दिया जाता है क्योंकि यहां इस तरह की आजादी है। ये आजादी ही है कि उन्हें बार बार ये समझाया जाता है कि जो वो कर रहे हैं वो गलत है। लेकिन वो इस आजादी का गलत फायदा उठा रहे हैं।

Loading...