2000-plastic-note-in-india

नकल रोकने के लिए सरकार ला रही है प्लास्टिक के नोट

नकल रोकने के लिए सरकार ला रही है प्लास्टिक के नोट




नई दिल्ली: नकली करंसी रोकने के लिए सरकार एक नई पहल करने पर विचार कर रही है। सरकार अब प्लास्टिक के नोट लाने की तैयारी कर रही है। शुक्रवार को संसद में जानकारी देते हुए केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अर्जुन मेघवाल ने कहा कि प्लास्टिक या पॉलिमर वाली नोट छापने का फैसला हो चुका है और इसके लिए जरुरी सामान की खरीद भी हो चुकी है।

प्लास्टिक नोट को शुरुआत में पांच शहरों में फील्ड ट्रायल के लिए लॉन्च किया जाएगा। जिनमें कोच्चि, मैसूर, जयपुर, शिमला और भुवनेश्वर शामिल हैं। सरकार ने कहा प्लास्टिक के नोट की उम्र पांच साल की होती है और इसका नकल करना बेहद मुश्किल होता है। कागज के नोट के मुकाबले प्लास्टिक के नोट ज्यादा साफ होते हैं। ऑस्ट्रेलिया में नकली नोट को रोकने के लिए इसे सबसे पहले लाया गया था।

दिसंबर 2015 में 1000 रुपये के नोट बिना सिक्यूरिटी थ्रेड के छापे गए थे। ये नोट नासिक प्रेस में छापे गए थे और होशंगाबाद से पेपर सप्लाई किया गया था। इस मामले में जांच की जा रही है। इसके लिए जो भी दोषी होंगे उन्हें सजा दी जाएगी। भविष्य में इस तरह की लापरवाही न हो इसके लिए ऑनलाइन इंस्पेक्शन सिस्टम के लिए जरुरी कदम उठाए गए हैं।

Loading...

Leave a Reply