गोड्डा में बनेंगे वेंडिंग जोन, अस्थाई दुकानदारों को मिलेगी स्थाई जगह

गोड्डा में बनेंगे वेंडिंग जोन, अस्थाई दुकानदारों को मिलेगी स्थाई जगह

गोड्डा/झारखंड:  प्रशासन की तरफ से जब कभी अतिक्रमण हटाया जाता है तो उसकी सबसे ज्यादा मार सड़क किनारे दुकान लगानेवालों पर पड़ती है। ये वो लोग होते हैं जो रोज कमाते हैं और रोज खाते हैं। चुकी इनके पास कोई स्थाई जगह नहीं होती इसलिए इन्हें एक जगह से दूसरी जगह भटकना पड़ता है। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। गोड्डा नगर परिषद की तरफ से इन दुकानदारों के लिए शहर में वेंडिंग जोन तैयार किया जाएगा। जिसमें इन्हें स्थाई रूप से दुकान आवंटित किया जाएगा।

अजीत सिंह, नगर परिषद अध्यक्ष

 

नगर परिषद अध्यक्ष अजीत सिंह ने NTI से बातचीत में अगले कुछ महीनों में तैयार होनेवाले वेंडिंग जोन के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि पहले फेज में दो वेंडिंग जोन तैयार किये जाएंगे। इसके लिए स्थान भी चिन्हित कर ली गई है। जिसमें से एक स्थानीय हटिया में और दूसरा मीट बाजार में बनेगा। उन्होंने कहा कि मीट बाजार में काफी जगह है जिसमें आधे में मीट बाजार रहेगा और आधे में वेंडिंग जोन बनाया जाएगा। उसी तरह से मंगलवार और शनिवार को जहां हटिया लगता है वहां भी खाली जगह को उपयोग में लाया जाएगा।

उन्होंने कहा कि इसके लिए 1 करोड़ रुपये की राशी भी मिल चुकी है। जल्द ही इसपर काम शुरु कर दिया जाएगा। ये सवाल पूछने पर कि कबतक दुकानदारों को दुकान मिल जाएगा? इसपर उनका कहना था कि मार्च 2018 तक दोनों वेंडिंग जोन बनकर तैयार हो जाएंगे और दुकानदारों को उनकी दुकान दे दी जाएगी।

अध्यक्ष अजीत सिंह ने जानकारी दी कि मौजूदा वक्त में 548 दुकानदार रजिस्टर्ड हैं। जिनमें से पहले फेज में तकरीबन 300 दुकानदारों को दुकान आवंटित की जाएगी।

कैसे होगा आवंटन?

चुकी रजिस्टर्ड दुकानदार ज्यादा हैं और पहले फेज में दुकानों की संख्या उससे कम होगी इसलिए किन दुकानदारों को दुकान दी जानी है इसके चयन के लिए एक 18 सदस्यों की कमिटी बनाई जाएगी। इस कमिटी में सदस्यों का चयन उन दुकानदारों के बीच से ही किया जाएगा। कमिटी की तरफ से ही दुकानदारों का नाम तय किया जाएगा। पक्षपात के आरोप से बचने के लिए ये कदम उठाया गया है। हलांकि वेंडिंग जोन में दुकानों का किराया कितना होगा ये अभी तय नहीं हो पाया है।

पिछले दिनों सड़क किनारे दुकान लगानेवालों को हटाया गया था। जिसके बाद उन्हें मेला मैदान में जगह दी गई थी। चुकी गणतंत्र दिवस के मौके पर हर साल वहां मेला लगता है इसलिए अब उन दुकानदारों को वो जगह खाली करनी पड़ रही है। उन्हें अस्थाई तौर पर सरकारी बस स्टैंड में जगह दी जाएगी। उम्मीद की जा रही है वेंडिंग जोन बन जाने के बाद उन दुकानदारों को एक जगह से दूसरी जगह भटकना नहीं पड़ेगा। शहर में 4-5 वेंडिंग जोन बनाए जाने की योजना है।

Loading...