भारत में ISIS के ‘खुरासान’ नेटवर्क का भंडाफोड, जी एम खान है नेटवर्क का मुखिया




नई दिल्ली: लखनऊ में ISIS के जिस सैफुल्ला को एटीएस ने एनकाउंटर में मार गिराया दरअसल वो एक मोहरा था, और सैफुल्ला ISIS के ‘खुरासान’ नेटवर्क के लिए काम करता था। इस ‘खुरासान’ नेटवर्क का मुखिया जी एम खान है। जो पहले एयरफोर्स में भी काम कर चुका है। जी एम खान ने ही इन लड़कों को ISIS से जोड़ने का काम किया था। जी एम खान कानपुर का रहनेवाला है। पुलिस और खुफिया एजेंसियों को अब खुरासान नेटवर्क के मुखिया जी एम खान की तलाश है।

इस ग्रुप से जुड़े सभी युवक अपने रास्ते से भटक चुके थे और ये ISIS की तर्ज पर नेटवर्क तैयार कर रहे थे। यूपी एटीएस के मुताबिक कानपुर, लखनऊ और इटावा के अलग अलग ठिकानों से बरामद लैपटॉप, मोबाइल फोन और ISIS का साहित्य ‘दबिक’ मिला है। इनके पास से बम बनाने के सामान भी मिले हैं। सोशल मीडिया के जरिये ये एक दूसरे से संपर्क करते थे। अब ये पता किया जा रहा है कि ये किन किन लोगों से बात करते थे।

मंगलवार को मध्य प्रदेश के शाजापुर में ट्रेन में हुए बम धमाके के बाद एमपी एटीएस और आईबी ने इनकी धरपकड़ शुरु की। पहले तीन संदिग्धों को एमपी पुलिस ने पिपरिया से गिरफ्तार किया। इनकी निशानदेही पर लखनऊ, इटावा और कानपुर में छापेमारी की गई। यूपी एटीएस ने कानपुर-इटावा से तीन संदिग्धों को गिरफ्तार किया है। इन सभी का संबंध उसी खुरासान नेटवर्क से बताया जा रहा है जिसका मुखिया जी एम खान है।

ये भी पढें :

– लखनऊ में 11 घंटे के एनकाउंटर के बाद मारा गया ISIS का आतंकी सैफुल्ला
– DU के प्रोफेसर समेत 5 को आजीवन कैद की सजा सुनाई गई

अब सवाल उठता है कि आखिर ये खुरासान नेटवर्क है क्या और इनका मकसद क्या है? ISIS ने 2020 तक भारत समेत दुनिया के कई देशों पर कब्जा करने का खतरनाक प्लान बनाया है। जिसमें यूरोप, चीन, भारत और नॉर्थ अफ्रीका तक अपना राज कायम करने का मकसद है। इसके लिए ISIS ने एक नक्शा भी तैयार किया है।

ISIS ने अपने नक्शे में स्पेन, पुर्तगाल और फ्रांस के हिस्से को अरबी में ‘अंदालुस’ नाम दिया गया है। जबकि भारत समेत एशिया के बड़े हिस्से को ‘खुरासान’ नाम दिया गया है। इसी संगठन से जोड़ने के लिए यूपी खुरासान का मुखिया जी एम खान काम कर रहा है। दरअसल पुराने वक्त में ईरान के पूर्व में आमू दरिया के दक्षिण और हिंदूकुश के उत्तर में स्थित विस्तृत भू-भाग का नाम खुरासान था।

Loading...