मोदी के किस मंत्री ने सबसे पहले अपनी गाड़ी से खुद हटाई लाल बत्ती

नई दिल्ली: केंद्रीय कैबिनेट ने 1 मई से गाड़ियों पर लाल बत्ती के इस्तेमाल पर रोक लगा दी है। कैबिनेट की बैठक में सेंट्रल व्हीकल एक्ट में बदलाव को मंजूरी दे दी गई। जिसके बाद अब केंद्र या फिर राज्य कहीं भी लाल बत्ती का प्रयोग नहीं किया जाएगा। कैबिनेट ने ये फैसला वीआईपी कल्चर खत्म करने के मकसद से लिया है।

कैबिनेट में 1 मई से लाल बत्ती के इस्तेमाल पर रोक लगाई गई है। लेकिन केंद्र सरकार के मंत्री गिरिराज सिंह ने कैबिनेट से इस फैसले पर मुहर लगने के तुरंत बाद अपनी गाड़ी पर लगी लाल बत्ती को उतार दिया। गिरिराज सिंह ने खुद अपनी गाड़ी से लाल बत्ती को उतार दिया।

पीएम मोदी कई बार कह चुके थे कि वो वीआईपी कल्चर को खत्म करेंगे। पीएम की उसी योजना के तहत कैबिनेट की बैठक में लाल बत्ती को खत्म करने का प्रस्ताव लाया गया। जिसपर कैबिनेट ने अपनी मुहर लगा दी। केंद्रीय कैबिनेट से मंजूरी मिलने के बाद अब केंद्र या फिर राज्य सरकार का कोई भी मंत्री या अधिकारी अपनी गाड़ी पर लाल बत्ती नहीं लगा सकेगा।

इसे भी पढ़ें

VIP कल्चर पर पीएम मोदी का बड़ा फैसला, कोई नहीं लगा सकेगा लाल बत्ती

सरकार ने उस प्रावधान को ही कानून की किताब से हटा दिया है जो लाल बत्ती लगाने का अधिकार देता है। हलांकि इमरजेंसी सर्विस वाली गाड़ियों को लाल बत्ती के इस्तेमाल का अधिकार मिलेगा। अब केंद्र या फिर राज्य में से किसी भी सरकार को लाल बत्ती लगाने के लिए छूट देने का अधिकार नहीं होगा।

केद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने भी अपनी गाड़ी से लाल बत्ती हटा दी है।

Loading...

Leave a Reply