raees-movie-launched

फिल्म रईस के प्रोड्यूसर से डॉन के बेटे ने मांगे 101 करोड़ रुपये

फिल्म रईस के प्रोड्यूसर से डॉन के बेटे ने मांगे 101 करोड़ रुपये




नई दिल्ली: शाहरुख की फिल्म रईस काफी चर्चा में रही है। लेकिन इस फिल्म को लेकर एक अलग कहानी सामने आई है। जिसमें अब्दुल लतीफ नाम के डॉन के बेटे ने मुश्ताक ने इस फिल्म के प्रोड्यूसर से 101 करोड़ मांगे हैं। दरअसल माना जा रहा है फिल्म रईस एक समय के अंडरवर्ल्ड डॉन अब्दुल लतीफ के ऊपर बनाई गई है।

मुश्ताक ने इसके लिए हाईकोर्ट में एक याचिका भी दायर की है। जिसमें कहा गया है कि फिल्म रईस उनके पिता अब्दुल लतीफ की जिंदगी पर बनाई गई है। इसलिए उन्हें फिल्ममेकर की तरफ से रॉयल्टी मिलनी चाहिए। अब्दुल लतीफ एक वक्त में अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के लिए भी काम करता था। लेकिन बाद में दोनों के बीच दुश्मनी हो गई थी। जिसमें अब्दुल लतीफ दाऊद पर भारी पड़ा था और दाऊद को पीछे हटना पड़ा था ।

अब्दुल लतीफ 90 के दशक में गुजरात में सक्रिय था। अंडरवर्ल्ड में उसने शराब की तस्करी से एंट्री की थी। 1993 के मुंबई ब्लास्ट में भी उसका नाम सामने आया था। अब्दुल लतीफ ने जब इस काम में अपने पैर जमा लिये तब उसने दाऊस के साथ काम करने से इनकार कर दिया था। जिसके बाद गुजरात के वडोदरा में दोनों के बीच शूटआउट भी हुआ था। लेकिन दाऊद को वहां से भागना पड़ा था।

लतीफ के दबदबे का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि 1985 में उसने एक साथ पांच म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन से चुनाव लड़ा था। उस वक्त वो जेल में था। लेकिन जब नतीजे आए तो पांचों म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन से उसने जीत हासिल की थी। शराब की तस्करी के बाद एक और अपराधी शरीफ खान के साथ मिलकर उसने हथियार की तस्करी भी शुरु कर दी थी।

1995 में दिल्ली में अब्दुल लतीफ की गिरफ्तारी हुई। तब उसपर 40 केस दर्ज था। पुलिस के मुताबिक 1997 में पुलिस की गिरफ्त से भागकर वो सरदार नगर के पास भूत बंगले में छिपा था। वहीं पर हुए एनकाउंटर में वो मारा गया था।

अब्दुल लतीफ के बेटे मुश्ताक के मुताबिक काफी पहले उसके दोस्तों ने आरएसएस ज्वाइन किया था। उसके बाद खुद मुश्ताक भी आरएसएस में शामिल हुआ था। लेकिन उसने कहा बाद में उसके पास वक्त की कमी हो गई थी इसीलिए उसने आरएसएस छोड़ दिया।

Loading...

Leave a Reply