बुर्कीनी बैन पर फ्रांसीसी पीएम का बयान, ‘खुले ब्रेस्ट फ्रांस का प्रतीक हैं’

पैरिस: बुर्कीनी बैन के पक्षधर फ्रांसीसी प्रधानमंत्री अपने बयान की वजह से आलोचनओं के शिकार हो रहे हैं। उन्होंने कहा था कि मुस्लिम हेड स्कार्फ से ज्यादा खुले ब्रेस्ट फ्रांस गणराज्य की पहचान हैं।

फ्रांस में महिलाओं के फुल स्विमसूट (बुर्कीनी) को बैन करनेवाले मेयर्स को समर्थन देने के मुद्दे पर फ्रांसीसी पीएम एजुकेशन मिनिस्टर से भी भिड़ चुके हैं। सोमवार को उन्होंने अपने भाषण में मैरीऐन के खुले ब्रेस्ट को फ्रांस गणराज्य का प्रतीक बताते हुए बुर्कीनी बैन को सही ठहराया।

फ्रांसीसी पीएम ने एक रैली को संबोधित करते हुए कहा ‘फ्रांस की क्रांति का प्रतीक मैरीऐन के खुले हुए ब्रेस्ट हैं। क्योंकि वह बच्चों को फीडिंग कराती है। वह परदे के भीतर नहीं है क्योंकि वह आजाद हैं और यही एक गणतंत्र की पहचान है।‘

खुले ब्रेस्ट फ्रांस की पहचान और बुर्कीनी को समस्या पैदा करनेवाला बताकर पीएम विरोधियों के निशाने पर आ गए हैं। फ्रांसीसी क्रांति के इतिहासकार मैथिलडे लारेर ने ट्वीट कर कहा कि ‘मैरीऐन के ब्रेस्ट खुले हुए इसलिए हैं क्योंकि वह एक रुपक है। मैरीऐन केवल क्लासिकल एल्यूजन है और कुछ नहीं।‘

यूएन ने फ्रांस में बीच पर बुर्कीनी से बैन हटाने के लिए कहा था। यूएन ने कहा था कि यह एक मूर्खतापूर्ण कार्रवाई है। इससे सुरक्षा की स्थिति बेहतर नहीं होगी बल्कि इससे धार्मिक असहिष्णुता बढ़ेगी। फ्रांस के कई मेयर्स ने बुर्कीनी पर बैन लगा रखा है लेकिन फ्रांस की सुप्रीम कोर्ट ने पिछले हफ्ते एक जगह लगे बुर्कीनी बैन को हटा दिया था। इसका यूएन ने भी स्वागत किया था।

Loading...