11 फरवरी को इस साल का पहला चंद्र ग्रहण, जानिये क्या करें और क्या ना करें




नई दिल्ली: 2017 का पहला चंद्र ग्रहण 11 फरवरी को सुबह लगेगा। साल का यह पहला चंद्र ग्रहण उपछाया चंद्र ग्रहण है इसीलिए इसका कोई खास प्रभाव नहीं देखा जा सकेगा। यही वजह है कि चंद्र ग्रहण का सूतक भी मान्य नहीं होगा। चंद्र ग्रहण की शुरुआत 11 फरवरी को सुबह 4 बजकर 10 मिनट पर होगी। और यह 8 बजकर 23 मिनट तक रहेगा।

उपछाया चंद्र ग्रहण केवल आंखों से नहीं देखा जा सकेगा। इसे सही तरीके से देखने के लिए टेलीस्कोप की जरुरत होगी। चंद्र ग्रहण का प्रवेश 11 फरवरी की सुबह 4 बजकर 10 बजे होगा। ये उपछाया चंद्रग्रहण भारत, यूरोप, एशिया, अफ्रीका, उत्तरी अमेरिका, दक्षिण अमेरिका, प्रशांत महासागर, अटलांटिक महासागर, हिंद महासागर के ज्यादातर हिस्सों में दिखाई देगा।

हालंकि चंद्र ग्रहण एक खगोलीय घटना है। लेकिन कई लोग इसे शुभ-अशुभ से जोड़कर देखते हैं। आमतौर पर इस दौरान कोई भी शुभ कार्य नहीं किया जाता है। ग्रहण के दौरान पूजा पाठ करें और घर को शुद्ध रखें। चाकू, कैंची, सूई-धागे का प्रयोग नहीं करना चाहिए। गर्भवती महिलाओं को खासतौर पर इन चीजों का ध्यान रखना चाहिए। ग्रहण के दौरान उच्च स्वर में मंत्रोच्चार करने से आसपास की नकारात्मक ऊर्जा खत्म होती है।

Loading...