DCW अध्यक्ष स्वाति मालीवाल के खिलाफ FIR, अवैध नियुक्ति का आरोप

दिल्ली:  दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल के खिलाफ दिल्ली की भ्रष्टाचार निरोधक शाखा यानि ACB ने केस दर्ज किया है। मालीवाल पर आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता, अपने करीबियों और पार्टी के बड़े नेताओं के रिश्तेदारों को नियमों की अनदेखी कर अस्थाई तौर पर नौकरी पर रखने का आरोप है। ACB की जांच में इस तरह की 85 नियुक्तियों में गड़बड़ी पाई गई है। सोमवार को ACB ने मालीवाल से उन्हीं के दफ्तर में दो घंटे तक पूछताछ की थी। जिसके बाद उनके खिलाफ केस दर्ज किया गया।

मालीवाल से कुल 27 सवाल पूछे गए थे। पूछताछ के दौरान मालीवाल को कुछ सवालों की लिस्ट भी सौंपी गई है। जिसका उन्हें लिखित जवाब देना है। इसके लिए मालीवाल ने एक हफ्ते का वक्त मांगा है।

दिल्ली महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष बरखा शुक्ला सिंह ने ही 11 अगस्त को मालीवाल के खिलाफ ACB में शिकायत कर आरोप लगाया था कि मालीवाल ने अपने पद का दुरुपयोग कर गैरकानूनी तरीके से कर्मचारियों की नियुक्ति की है। आरोप में कहा गया है कि जिन 85 लोगों की नियुक्ति की गई है उनमें से ज्यादातर सीएम अरविंद केजरीवाल के रिश्तेदार और आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता शामिल हैं। आवेदन के लिए अखबारों में विज्ञापन भी दिये गए थे। लेकिन नियुक्ति उन्हीं की हुई जो आप से पहले से जुड़े थे। अपनी शिकायत में बरखा सिंह ने पार्टी नेता एचएस फुल्का की बेटी प्रभसहाय कौर को नौकरी पर रखने और उन्हें 35,000 रुपये तनख्वाह देने का आरोप भी लगाया है।

ACB की तरफ से केस दायर किये जाने के बाद मालीवाल ने कहा वो जांच में हर तरह से सहयोग करेंगी। ACB ने मामले से जुड़े जो कागजात मांगे थे वो पहले ही दिये जा चुके हैं। उन्होंने कहा हम काम कर रहे हैं इसलिए हमपर हमले हो रहे हैं।

Loading...

Leave a Reply