फोनी तूफान से भुवनेश्वर एयरपोर्ट पर तबाही, तीन लोगों की मौत 60 से ज्यादा घायल

भुवनेश्वर/ओडीशा:  चक्रवाती तूफान फोनी शुक्रवार सुबह तकरीबन साढ़े नौ बजे पुरी के तट से टकराया। जिसके बाद से पूरे ओडीशा में एक अलग ही मंजर दिखाई दे रहा है। सड़कें सूनी हो चुकी हैं। कई जगहों पर पेड़ उखड़ गए हैं तो कई घरों को भी नुकसान हुआ है। एनडीआरएफ के डीजी एसएन प्रधान ने बताया कि फोनी तूफान से अबतक तीन लोगों की मौत हो चुकी है। फोनी तूफान से 160 लोग घायल हुए हैं। अब चक्रवात ओडीशा से आगे पहुंच चुका है और पश्चिम बंगाल पहुंच चुका है।

शुक्रवार की शाम के 6 बजे के करीब फोनी तूफान पूर्वी मिदनापुर से 120 किलोमीटर दूर है, जबकि कोलकाता से 250 किलोमीटर की दूरी पर है। पुरी में हवा की रफ्तार 175 किलोमीटर प्रति घंटे की रही। अनुमान के मुताबिक रात 8 बजे के करीब फोनी तूफान कोलकाता पहुंच जाएगा।

फोनी तूफान को देखते हुए कोलकाता एयरपोर्ट बंद किया जा चुका है। ओडीशा में भी विमान सेवा रोक दी गई है। 250 ट्रेनें पहले ही रद्द हो चुकी हैं। तटीय इलाकों में रहनेवाले लोगों को को पहले ही सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया जा चुका था।

छत्तीसगढ़ में भी फोनी तूफान ने अपना असर दिखाया है। वहां तेज आंधी के साथ बारिश हुई। कई जगहों पर पेड़ उखड़ गए। कई घर और दुकान ढह गए हैं। कई जगह पर भूस्खलन की घटना भी देखने को मिली है। एनडीआरएफ और राज्य आपदा दल राहत और बचाव कार्य में लगे हैं। बचाव दल सड़कों पर गिरे पेड़ को हटाने के काम में जुटा है।

(Visited 71 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *