घनुष तोप में जर्मनी की जगह लगा नकली चीनी सामान, सीबीआई ने केस दर्ज किया

नई दिल्ली:  देश में ही निर्मित धनुष तोप में मेड इन जर्मनी के नाम पर नकली चीनी सामान की सप्लाई कर दी गई। इस मामले में सीबीआई ने दिल्ली स्थित एक कंपनी के खिलाफ केस दर्ज किया है। सीबीआई ने सिध सेल्स सिंडिकेट के साथ साथ गन्स कैरिज फैक्ट्री यानि जीसीएफ जबलपुर के अज्ञात अधिकारियों के खिलाफ आपराधित साजिश, धोखाधड़ी और जालसाजी का केस दर्ज किया है।

जांच एजेंसी की तरफ से कहा गया है कि  जीसीएफ के अज्ञात अधिकारियों ने चीन में बने वायर रेस रोलर बियरिंग्स को स्वीकार कर लिया। इसकी आपूर्ति सिद्ध सेल्स सिंडिकेट की तरफ से सीआरबी-मेड इन जर्मनी के तौर पर की गई थी। इस तरह की चार बियरिंग्स के लिए टेंडर जारी की गई थी। 2013 में 35.38 लाख रुपये का ऑर्डर सिद्ध सेल्स सिंडिकेट को दिया गया।

जिसके बाद सात अगस्त 2014 को ऑर्डर को बढ़ाकर 6 बियरिंग्स कर दिया गया। जिसकी कीमत भी बढ़कर 53.07 लाख रुपये हो गई। कंपनी ने 7 अप्रैल 2014 और 12 अगस्त 2014 के बीच तीन बार में दो-दो बियरिंग की आपूर्ति कर दी। आरोप ये भी है कि बियरिंग्स की आपूर्ति करने वाली कंपनी ने जर्मनी की कंपनी के फर्जी लेटर हेड का भी इस्तेमाल किया।

धनुष तोप स्वदेश में निर्मित तोप है। इसे बोफोर्स का देसी वर्जन कहा जाता है। इसकी मारक क्षमता 38 किलोमीटर तक है।

Loading...

Leave a Reply