FaceAPP के बुढ़ापे वाले फिल्टर से सावधान, कहीं मुसीबत में ना घिर जाएं आप

नई दिल्ली:  हाल के दिनों में FaceAPP का एक फिल्टर काफी चर्चा में है। फेसबुक में कई प्रोफाइल में इस बुढ़ापे वाले फिल्टर के द्वारा तैयार तस्वीर लगाई जा रही हैं। उसपर लोगों के कमेंट भी आ रहे हैं। लेकिन इस तस्वीर का एक दूसरा शक्ल भी है जो इस FaceAPP को इस्तेमाल करनेवालों के लिए परेशानी खड़ी कर सकता है।

FaceAPP 2017 से ही प्ले स्टोर में उपलब्ध है। लेकिन इसका बुढ़ापे वाला फिल्टर काफी चर्चा में है। सलेब्रिटी से लेकर आम आदमी तक इस बुढ़ापे वाले फिल्टर का इस्तेमाल कर खुद को बुढ़ा होता देख रहे हैं। लेकिन इस ऐप को इस्तेमाल करने के लिए जो शर्तें रखी गई हैं वो यूजर फ्रेंडली नहीं कहा जा सकता है। और यूजर के प्राइवेसी के लिए ये एक खतरा भी बन सकता है।

दरअसल इस ऐप के लिए जो भी फोटो इस्तेमाल किये जाते हैं वो FaceAPP के क्लाउड पर स्टोर होता है। रूस के सेंट पीट्सबर्ग में FaceAPP की शुरुआत 2017 में की गई थी। FaceAPP के मुताबिक वो उन्हीं फोटो को क्लाउड पर डालता है जो फिल्टर के लिए अपलोड किये जाते हैं। फोन में मौजूद दूसरे फोटो को क्लाउड पर प्रोसेस नहीं करता है।

FaceAPP इस्तेमाल करने की शर्त में इस बात का भी जिक्र है कि वो आपकी तस्वीर को किसी भी परपज के लिए इस्तेमाल कर सकता है। अपने बिजनेस के लिए FaceAPP आपकी तस्वीर का इस्तेमाल कर सकता है। साथ ही यूजर का नाम और उससे जुड़े कंटेंट को FaceAPP किसी भी मीडिया फॉर्मेट में इस्तेमाल कर सकता है।

इन शर्तों से ये साफ हो जाता है कि जो भी तस्वीर बनाई जा रही है उसे बिजनेस के पर्पस से FaceAPP भविष्य में इस्तेमाल के लिए स्वतंत्र है। अपनी शर्तों में FaceAPP ने साफ लिखा है कि आप जो भी कंटेंट हमारी सर्विस के लिए इस्तेमाल करते हैं वह पूरी तरह से पब्लिक है और उसकी लोकेशन भी पब्लिक रहेगी।

अपनी शर्तों में कंपनी ने ये भी लिखा है कि वो किसी भी थर्ड पार्टी के साथ आपका डेटा शेयर कर सकती है। हलांकि कंपनी ने ये भी साफ किया है कि वो ऐसा करने नहीं जा रही है। लेकिन सवाल ये उठता है कि अगर ऐसा करना नहीं है तो फिर इसे शर्तों में शामिल क्यों किया गया। कंपनी FaceAPP के जरिये इकट्ठा किये जा रहे डेटा को किसी दूसरे देश में भी स्टोर कर सकती है।

(Visited 173 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *