पीएम मोदी पर बड़ा हमले की साजिश बेनकाब, खुरासान ग्रुप कर चुका था रिहर्सल

नई दिल्ली: मध्य प्रदेश में भोपाल-उज्जैन ट्रेन में हुए धमाके के सिलिसिले में गिरफ्तार खुरासान मॉड्यूल के आतंकियों से पूछताछ में बड़ी साजिश का खुलासा हुआ है। पूछताछ में आतंकियों ने बताया कि 11 अक्टूबर को दशहरे के मौके पर लखनऊ में पीएम की रैली के दौरान कम तीव्रता वाले धमाके किये गए थे। ये धमाका रैली स्थल से तकरीबन 250 मीटर दूर किया गया था। लेकिन रावण दहन के शोर की वजह से किसी ने इसकी आवाज नहीं सुनी थी।

आतिफ मुजफ्फर उर्फ अल कासिम समेत तीन संदिग्ध आतंकियों ने पुलिस पूछताछ में यह खुलासा किया है। इन संदिग्धों से एनआईए और यूपी एसटीएफ पूछताछ कर रही है।

ये भी पढें :

– ब्रिटेन में संसद पर हमले की कोशिश, हमलावार मारे गए 12 लोग घायल
सख्ती से की गई पूछताछ में धमाके के आरोपियों ने बताया कि कम तीव्रता का धमाका ट्रायल के लिए किया गया था। ताकि आगे चलकर पीएम की रैली में बड़े धमाके किये जा सकें। भोपाल-उज्जैन ट्रेन ब्लास्ट भी ट्रायल के लिए किया गया था। इन लोगों ने ट्रेन में बम रखने और धमाके के बाद की तस्वीर ISIS के लिए सीरिया में काम कर रहे पाकिस्तानी हैंडलर्स के पास भेजी थी। ये इस कोशिश में थे कि इन्हें ट्रेनिंग के लिए ISIS सीरिया बुला ले।

इन संदिग्ध आतंकियों के निशाने पर दिल्ली के अलग अलग इलाके भी थे। दिल्ली में इन्होंने इंडिया गेट समेत 6 जगहों की रेकी की थी। इसके अलावा अमृतसर और मुंबई में भी इन्होंने रेकी की थी।

Loading...

Leave a Reply