UP VIDANSABHA

यूपी विधानसभा में मिला खतरनाक PETN विस्फोटक, सीएम ने बुलाई बैठक

यूपी विधानसभा में मिला खतरनाक PETN विस्फोटक, सीएम ने बुलाई बैठक

लखनऊ:  यूपी विधानसभा की सुरक्षा में बड़ी चूक सामने आई है। विधानसभा में PETN नाम का विस्फोटक मिला है। ये विस्फोटक काफी घातक माना जाता है। विधानसभा में विस्फोटक मिलने की ये घटना 12 जुलाई की है। यानि जब यूपी विधानसभा का बजट सत्र चल रहा था तभी विधान सभा के भीतर विस्फोटक को बरामद किया गया था।

फॉरेंसिक जांच में विस्फोटक होने की पुष्टि हो चुकी है। हलांकि डेटोनेटर की बरामदगी नहीं हुई है। डेटोनेटर होने के बाद ही विस्फोटक बम का रुप लेता है। अगर विस्फोटक के साथ डेटोनेटर भी होता तो काफी बड़ा विस्फोटक हो सकता था। इसे विधानसभा के भीतर वहां से बरामद किया गया जहां पर सत्र के दौरान विधायक बैठते हैं।

UP Government

इसे 12 जुलाई को सुबह उस वक्त बरामद किया गया जब सुबह साढ़े आठ बजे डॉग स्क्वॉड विधानसभा के भीतर चेकिंग कर रहे थे। चुकी ये विस्फोटक गंधहीन होता है इसलिए इसके बारे में पता कर पाना बेहद ही मुश्किल होता है। लेकिन अब सबसे बड़ा सवाल ये है कि इसे विधानसभा के भीतर लेकर गया कौन।

विधानसभा के भीतर लगे सभी सीसीटीवी फुटेज की भी जांच की जा चुकी है। लेकिन कहीं भी ये सुराग नहीं मिला कि इसे विधानसभा के भीतर कौन ले गया। विधानसभा के भीतर ये एक नीले रंग की पॉलीथीन में रखा गया था। लेकिन सीसीटीवी फुटेज में कोई भी व्यक्ति नीले रंग की पॉलीथीन के साथ दिखाई नहीं दे सकता है। इसी मामले पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने हाई लेवल मीटिंग बुलाई है। जिसमें सभी उच्च अधिकारी मौजूद रहेंगे।

क्या होता है PETN?

PETN एक बेहद ही शक्तिशाली विस्फोटक है। गंधहीन होने की वजह से डॉग स्क्वॉड में शामिल खोजी कुत्ते या मेटल डिटेक्टर से भी नहीं इसका पता नहीं लगाया जा सकता है। एयरपोर्ट पर भी इसे नहीं पकड़ा जा सकता है। जब PETN होने का शक होता है तो इसका एक्स रे किया जाता है फिर फॉरेंसिक लैब में इसकी जांच होती है तब जाकर इसके बारे में पता चलता है। जब ये PETN डेटोनेटर के साथ मिलता है तो ये रिएक्ट करता है और अति तीव्र विस्फोट होता है। जिससे काफी बड़ा नुकसान होता है। इसे आसानी से हासिल भी नहीं किया जा सकता है। बेहद ही सुरक्षित तरीके से इसे रखा जाता है।

कैसे होती है विधानसभा की सुरक्षा?

विधानसभा की अपनी सुरक्षा होती है। यूपी पुलिस को विधानसभा के भीतर जाने की इजाजत नहीं होती है। विधानसभा का अपना सचिवालय भी होता है। जिसमें मार्शल होते हैं। वही तमाम सुरक्षा इंतजाम भी करते हैं।

Loading...

Leave a Reply