पूर्व बीजेपी सांसद वेदांती का दावा ‘अयोध्या में मैंने तुड़वाया विवादित ढांचा’

नई दिल्ली:  अयोध्या में विवादित ढांचा गिराए जाने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। अब इस मामले में एक नया मोड़ आ गया है। बीजेपी के पूर्व सांसद और रामजन्मभूमि न्यास के वरिष्ठ सदस्य डॉ. रामविलास वेदांती ने चौंकानेवाला दावा किया है। वेदांती ने कहा मेरे कहने पर अयोध्या में बाबरी का विवादित ढांचा गिराया गया। वेदांती ने आगे कहा इसके लिए मुझे फांसी भी हो जाए तो परवाह नहीं है।

वेदांती ने बताया जिस दिन विवादित ढांचा गिराया गया उस दिन कार सेवक हमारे विशिष्ठ भवन में गए। उन्होंने हमसे पूछा वेदांती जी क्या करना है। हमने कहा उस खंडहर को जबतक नहीं तोड़ेंगे मंदिर का निर्माण नहीं होगा। रात को 11 बजे तत्कालीन प्रधानमंत्री पीवी नरसिंघा राव का फोन मेरे पास आया और उन्होंने मुझसे पूछा कल क्या होनेवाला है?

इसे भी पढ़ें
अखिलेश के बुरे दिन शुरु, सीएम योगी ने लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे की जांच शुरु की

वेतांती ने आगे बताया वेदांती जी कल क्या होनेवाला है। हमने कहा हमने कारसेवकों से कह दिया है कि जबतक विवादित ढांचा नहीं तोड़ेंगे, उस खंडहर को नहीं तोड़ेंगे तबतक मंदिर का निर्माण नहीं होगा। वेदांती ने कहा इसके बाद नरसिंह राव जी ने कहा टूट जाने दो जो होगा देखा जाएगा।

बाबरी मस्जिद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद वेदांती का बयान आया है। सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में आडवाणी, उमा भारती, मुरली मनोहर जोशी, विनय कटियार समेत 13 लोगों के खिलाफ आपराधिक साजिश का केस चलाने का आदेश दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने ये भी सुनिश्चित कर दिया है कि 2 साल में इस केस की सुनवाई पूरी हो। साथ ही कहा गया है कि जबतक केस की सुनवाई पूरी नहीं होती है तबतक इस मामले को सुन रहे जजों का ट्रांसफर नहीं होगा।

इसे भी पढ़ें
बाबरी केस में आडवाणी, जोशी, उमा समेत 10 पर चलेगा आपराधिक केस, SC का फैसला

सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में लखनऊ और रायबरेली में दो अलग-अलग जगहों पर चल रहे मामलों को एक ही जगह पर लखनऊ में चलाने का भी आदेश दिया है। सीबीआई ने इस मामले में कुल 21 लोगों के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की थी।

Loading...