मोदी बोले ‘सभी का विकास का मूड’ लेकिन मायावती का BJP पर हमलावर मूड

संसद का मानसून सत्र शुरु हो गया। इस सत्र से पीएम नरेंद्र मोदी काफी उम्मीद लगाए बैठे हैं। केवल उम्मीद ही नहीं है वो इस सत्र में सांसदों से साकरात्मक सोच के साथ आने की अपील करने के साथ साथ ये भी कह रहे हैं कि इसबार देश को दिशा देने का काम हो। केंद्र सरकार जीएसटी समेत कई अहम बिल इस सत्र में पेश और पास कराने की तैयारी में है। इसके लिए विपक्ष को साथ लाने की कोशिश भी की जा रही है।

प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से अनौपचारिक मुलाकात की। जिसमें पीएम मोदी ने सोनिया गांधी से कहा कैसी हैं ? इसपर सोनिया गांधी ने कहा ठीक हूं। फिर सोनिया ने कहा कैसा चल रहा है? इसपर पीएम मोदी ने कहा ठीक तो तब हो जब संसद चले।

maya-wati-in-loksabhaवहीं बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने मानसून सत्र के पहले ही दिन केंद्र सरकार और बीजेपी पर करारा प्रहार कर दिया। गुजरात के उना में दलितों की पिटाई के मामले मायावती ने राज्यसभा में सीधे-सीधे मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि जब जब केंद्र में बीजेपी की सरकार आती है तब तब दलितों पर हमले किये जाते हैं

मायावती ने उना की घटना के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। राज्यसभा में दलित पर हो रहे अत्याचार के मुद्दे पर मायावती ने कहा कि ऐसे कई मामले हैं जहां दलितों के खिलाफ अत्याचार किये गए। लेकिन उसका जिक्र यहां नहीं किया जा रहा है। मायावती केवल आरोप लगाकर ही शांत नहीं हो गईं। बीएसपी ने इसपर हंगामा भी किया। जिसके बाद 10 मिनट के लिए राज्यसभा को स्थगित करनी पड़ी।

दरअसल गुजरात के गिर सोमनाथ जिले के उना कस्बे में तथाकथित गौ सेवकों के दल ने चार दलित युवकों की बुरी तरह से पिटाई कर दी थी। दलित युवक समढ़ियाला गांव से मरी हुई गाया का चमड़ा लेकर लौट रहे थे। जिन्हें उना बस स्टैंड के पास गाड़ी से बांधा गया था और उनकी बेरहमी से पिटाई कर दी गई। पीटनेवालों ने उनका वीडियो भी बनाया था। उन्हीं लोगों ने इस वीडियो को वायरल भी कर दिया था। जिसके बाद इसपर काफी हंगामा हुआ था।

Loading...

Leave a Reply