चुनाव आयोग ने योगी-मायावती की कर दी बोलती बंद, रैली-सभा और ट्वीट नहीं कर सकेंगे

नई दिल्ली:  चुनाव में नेताओं के बीच बयानबाजी और एक के बयान पर दूसरे का पलटवार आम बात है। लेकिन कई बार ये वार और पलटवार मर्यादाओं की सीमा को तोड़ जाती है। चुनाव आयोग इस तरह की बयानबाजी पर काफी करीब से नजर बनाए हुए है। इसी के तहत यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के चुनावी भाषण और ट्वीट पर 72 घंटे का और बीएसपी सुप्रीमो मायावती पर 48 घंटे के लिए रोक लगा दी है। दोनों नेताओं पर लगी ये रोक मंगलवार सुबह 6 बजे से शुरु होगी।

चुनाव आयोग की इस रोक के बाद अब दोनों नेता ना तो कोई चुनावी रैली या सभा कर पाएंगे और ना ही जनता के सामने वोट मांगने जा सकेंगे। इस समय सीमा के दौरान दोनों नेता कोई टीवी इंटर्व्यू भी नहीं दे सकेंगे। किसी तरह का राजनीतिक ट्वीट भी नहीं कर सकेंगे। सार्वजनिक कार्यक्रम में भी शामिल नहीं हो सकेंगे। दोनों नेताओं के रोड शो करने पर भी रोक लगी रहेगी।

चुनावी मौसम में योगी आदित्यनाथ और मायावती चुनावी सभाओं के अलावे सोशल मीडिया पर भी काफी एक्टिव रहते हैं। योगी आदित्यनाथ बीजेपी के स्टार प्रचारक भी हैं। वो चुनावी भाषणों के अलावे ट्विटर के जरिये भी अपने विरोधियों पर वार करते हैं। मायावती भी इन दिनों विरोधियों पर निशाना साधने के लिए ट्विटर का जमकर इस्तेमाल कर रही हैं। लेकिन अब इन सारी गतिविधियों पर रोक लग गई है।

(Visited 37 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *