चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों को 3 जून से EVM हैक करने की चुनौती दी

नई दिल्ली:  EVM पर सवाल उठानेवालों के लिए चानव आयोग ने उस तारीख का एलान कर दिया है जब वो EVM को हैक करके अपने दावों की पुष्टि कर सकते हैं। शनिवार को चुनाव आयोग ने सभी राजनीतिक पार्टियों के सामने EVM का डेमो दिया। जिसमें आयोग की तरफ से EVM के बारे में विस्तार से बताया गया। इसके बाद आयोग ने कहा इसके बाद भी जिन राजनीतिक दलों को EVM पर शक है वो 3 जून से इसे हैक करके दिखाएं।

मुख्य निर्वाचन आयुक्त नसीम जैदी ने कहा EVM चुनौती 3 जून से शुरु होगी। जैदी ने कहा जिन लोगों ने EVM पर सवाल उठाया है उन्होंने अभी तक अपने दावों के समर्थन में पुख्ता साक्ष्य नहीं दिये हैं। EVM के भीतर लगे इलेक्ट्रॉनिक सर्किट को बदलना संभव नहीं है। EVM तकनीकी रूप से सुदृढ़ हैं और उनमें धांधली संभव नहीं है। जैदी आम आदमी पार्टी के उन दावों को खारिज कर दिया जिसमें पार्टी ने कहा था कि EVM हैक किया जा सकता है।

आयोग ने कहा किसी भी ट्रोजन हॉर्स मैलवैयर से EVM के सॉफ्टवेयर से छेड़छाड़ नहीं की जा सकती है। जैदी ने कहा EVM के निर्माण के दौरान भी उसमें छेड़छाड़ नहीं की जा सकती है। ना तो निर्माण के दौरान मशीन में छेड़छाड़ संभव है और न ही सिक्योरिटी सॉफ्टवेयर के साथ छेड़छाड़ की जा सकती है। जैदी ने कहा अगर को ये चाह ले कि सुनियोजित तरीके से EVM में छेड़छाड़ किया जाय तो भी ये संभव नहीं है। क्योंकि मशीनों के निर्माता को उम्मीदवारों की संख्या के बारे में पता नहीं होता।

Loading...

Leave a Reply