बड़ी मुसीबत में फंसे सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा, करीबियों के घर ED की छापेमारी

नई दिल्ली: राजस्थान के बीकानेर जमीन सौदे में प्रवर्तन निदेशालय ने बड़ी कार्रवाई शुरु की है। इस सिलसिले में प्रवर्तन निदेशालय ने फरीदाबाद में तीन जगहों पर छापेमारी शुरु की है। जमीन घोटाले में जिन लोगों के खिलाफ छापेमारी हो रही है वो सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा के बेहद करीबी हैं।

प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों ने महेश नागर और अशोक कुमार के ठिकानों पर छापेमारी की है। आरोप है की महेश नागर को वाड्रा की कंपनी ने जमीन खरीदने और बेचने की पावर ऑफ अटार्नी दी थी। जबकि अशोक कुमार को जिसने जमीन बेची थी उन्हें खरीदने और बेचने की पावर ऑफ अटॉर्नी दी थी।

ये भी पढें :

– सलमान ने उतार दी सनी लियोनी की साड़ी..उसके बाद क्या हुआ?
– उम्र पर मत जाइये, इस लड़की के भजन को 68 लाख लोग सुन चुके हैं

अबतक प्रवर्तन निदेशालय की जांच में ये बात सामने आ चुकी है कि अशोक कुमार महेश नागर का ड्राइवर है। दोनों एक ही गांव के रहनेवाले हैं और महेश नागर का भाई कांग्रेस विधायक है।

यह पूरा मामला बीकानेर में स्काईलाइट कंपनी के जरिये हुए जमीन के खरीद-फरोख्त से जुड़ा है। स्काइलाइट कंपनी में रॉबर्ट वाड्रा और उनकी मां मोरीन वाड्रा निदेशक हैं। बाद में वाड्रा की कंपनी से एलीजीनी फिनलेज नाम की कंपनी ने वाड्रा से करोड़ों रुपये में जमीन खरीदी थी। जबकि वाड्रा ने मात्र 79 लाख में जमीन खरीदी थी। इस धोखाधड़ी में वाड्रा का साथ देनेवाले सरकार कर्मचारियों की संपत्ति प्रवर्तन निदेशालय पहले ही अटैच कर चुका है।

Loading...